कैबिनेट मंत्री के आने से पहले किसानों ने किया यह काम तो पुलिस के फूले हाथ-पांव

कैबिनेट मंत्री के आने से पहले किसानों ने किया यह काम तो पुलिस के फूले हाथ-पांव

sharad asthana | Updated: 17 Sep 2019, 04:01:42 PM (IST) Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • Saharanpur से Delhi तक पदयात्रा निकाल रहे हैं किसान
  • Meerut में शहर के अंदर पहुंच गए सैकड़ों किसान
  • Shrikant Sharma भी मंगलवार को पहुंचे हैं मेरठ

मेरठ। योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा मंगलवार को मेरठ पहुंचे हैं। उससे पहले सैकड़ाें किसानों की पदयात्रा से पुलिस अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। आनन-फानन में पुलिस अधिकारियों ने किसानों को हाईवे की तरफ भेज शहर के जाम को क्‍लीयर किया। वहीं, दिल्‍ली-मेरठ हाईवे पर किसानों के पहुंचने के कारण वहां जाम लग गया। इससे आने-जाने वालों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

कई जगह से पहुंचे हैं किसान

दरअसल, किसानों और मजदूरों की कई मांगों को लेकर किसान सहारनपुर से दिल्ली तक पदयात्रा निकाल रहे हैं। इनका नेतृत्‍व भारतीय किसान संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर पूरण सिंह कर रहे हैं। इसमें कई जगह से किसान ट्रैक्‍टर-ट्रॉली में भरकर पहुंचे हैं। सोमवार को उन्‍होंने सिवाया टोल प्लाजा से सभी वाहनों को फ्री में पास कराया था। मंगलवार को ये दिल्‍ली के लिए मेरठ से रवाना हुए। इस बीच कई किसान शहर की तरफ से चल दिए। ऐसे में टैंक चौराहे पर जाम लग गया।

यह भी पढ़ें: नोएडा के इस गुर्जर नेता ने बसपा विधायकों को ज्‍वाइन कराई कांग्रेस!

हाईवे की तरफ भेजा किसानों को

मंगलवार को ही जिले के प्रभारी मंत्री और कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा के भी मेरठ पहुंचने का कार्यक्रम था। इसको देखते हुए एसपी ट्रैफिक ने किसानों को हाईवे की तरफ भेज दिया। सैकड़ों किसानों के दिल्‍ली-मेरठ हाईवे पर आने के कारण परतापर से मोईनुद्दीपुर तक जाम लग गया। इस कारण हाईवे पर भारी वाहनों को हापुड़ की तरफ डायवर्ट कर दिया गया है।

सोमवार को भी लगा था जाम

वहीं, किसानों की पदयात्रा के चलते सोमवार को भी सहारनपुर-दिल्‍ली हाईवे पर जाम की स्थिति बनी रही थी। सिवाया टोल पर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर पूरण सिंह ने कहा था कि किसान आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं। उनको समय से गन्ने का भुगतान भी नहीं मिल पा रहा है। सरकार बिजली दर में बढ़ोतरी कर उनकी कमर तोड़ने का काम कर रही है। कर्ज के बोझ तले किसान आत्महत्या कर रहे हैं।

खबर पर कमेंट करने के लिए यहां क्लिक करें: https://www.facebook.com/PatrikaNoida/posts/3094246317283978?__tn__=-R

ये हैं किसानों की मांगें

- किसानों के कर्जे माफ हों
- सिंचाई के लिए बिजली मुफ्त मिले
- 60 वर्ष की आयु के बाद पांच हजार रुपये महीना पेंशन मिले
- किसान के साथ ही परिवार दुर्घटना बीमा योजना लागू हो
- वेस्‍ट यूपी में हाईकोर्ट और एम्स की स्थापना होनी चाहिए
- गन्ना मूल्य भुगतान ब्याज समेत हो

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned