scriptLeopard Pallava caught in Meerut released in Shivalik forest | Operation Leopard in Meerut : 4 साल का तेंदुआ पल्लव अब शिवालिक के जंगल में करेगा राज | Patrika News

Operation Leopard in Meerut : 4 साल का तेंदुआ पल्लव अब शिवालिक के जंगल में करेगा राज

Operation Leopard in Meerut मेरठ की पॉश कालोनी पल्लवपुरम में वन विभाग का आपरेशन तेंदुआ करीब 11 घंटे तक चला। उसके बाद तब जाकर कहीं तेंदुआ पकड़ा गया। उसको पकड़ने से पहले ट्रेंकुलाइज किया गया। तेंदुआ पकड़ने के बाद वन विभाग ने राहत की सांस ली है। पल्लवपुरम में पकड़े जाने के बाद तेंदुआ का नाम पल्लव रखा गया है। उसको शिलालिक के जंगल में छोड़ दिया गया।

मेरठ

Published: March 05, 2022 11:35:49 am

Operation Leopard in Meerut दिल्ली मेरठ स्थित पल्लवपुरम जैसी पॉश कालोनी में घुसा तेंदुआ आखिरकार वन विभाग की टीम के काबू में आ ही गया। तेंदुआ काबू करने के लिए पूरे 11 घंटे वन विभाग की टीम मेहनत करती रही। उसके बाद जाकर कहीं तेंदुआ कब्जे में फंसा। कालोनी में उस समय सुबह अफरातफरी मच गई। जब तेंदुआ घुस आया। तेंदुआ कभी घर में घुसने की कोशिश करता तो कभी कालोनी की सड़क पर दौड़ लगाता। मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने पल्लवपुरम फेज टू में तेंदुआ को पकड़ने के लिए जाल और पिंजरा लगाया। लेकिन वह पिंजरा और जाल तोड़कर एक प्लाट के भीतर घुस गया। उसके बाद वन विभाग की टीम ने प्लाट के चारों ओर जाल लगा दिया। इसके बाद आसपास की छत से तेंदुआ को ट्रेंकुलाइज करने की तैयारी की गई।
Operation Leopard in Meerut : 4 साल का तेंदुआ पल्लव अब शिवालिक के जंगल में करेगा राज
Operation Leopard in Meerut : 4 साल का तेंदुआ पल्लव अब शिवालिक के जंगल में करेगा राज
करीब 11 घंटे की कड़ी मशक्‍कत के बाद तेंंदुआ को ट्रेंकुलाइज कर पकड़ लिया गया। तेंदुए को देखने के लिए उमड़ी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को लाठियां भांजनी पड़ी। पकड़े गए तेंदुआ का नाम पल्लव रखा गया है। इसका नाम पल्लव इसलिए रखा गया क्योंकि यह पल्लवपुरम से पकड़ा गया है। इसको शिवालिक के जंगल में छोड़ा गया है। वन विभाग ने इसको छोड़ने के लिए तीन रेंज तय किए है। जहां तेंदुए के लिए बेहतर माहौल और भरपूर मात्रा में भोजन उपलब्ध है।
यह भी पढ़े : Leopard enter Meerut : तेंदुआ आधा घंटे तक मचाता रहा उत्पात पिंजरा तोड़कर हुआ गायब,पूरे इलाके में दहशत


इसके बाद तय हुआ कि इसको शिवालिक के जंगल में छोड़ा जाए। डीएफओ राजेश कुमार बताया कि देर रात मेरठ से तीन वाहनों के साथ इसको सहारनपुर रवाना किया गया। तेंदुए को विशेष पिजरें में रखा गया था। जिसे रास्ते में खाना भी दिया। चार साल की उम्र एवं 80 किलो वजन के इस तेंदुए को वन विभाग ने पल्लवपुरम में घंटों चले आपरेशन के बाद रेस्क्यू किया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

आय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध से पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दअरुणाचल प्रदेश पहुंचे अमित शाह, स्वामी विवेकानंद की प्रतिमा का अनावरण कर बोले- मोदी सरकार ने दिल्ली व नॉर्थ-ईस्ट के अंतर को खत्म कियाबेटी की 'अवैध' नियुक्ति को लेकर CBI ने बंगाल के मंत्री परेश अधिकारी से तीसरे दिन भी की पूछताछRajiv Gandhi 31st Death Anniversary: अधीर रंजन ने ये क्या कह दिया, Tweet डिलीट कर देनी पड़ रही सफाई, FIR तक पहुंची बातपाकिस्तान पुलिस ने पूर्व पीएम इमरान खान के आवास पर की छापेमारीभीषण गर्मी : देश में 140 में से 60 बड़े बांधों का पानी घटा, राजस्थान के भी तीन बांधNCP प्रमुख शरद पवार आज पुणे में ब्राह्मण समुदाय के नेताओं से क्यों मिल रहे हैं?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.