VIDEO: वर्दी पहनकर वाहन चेकिंग के नाम पर लूटते थे लोगों को, जब सामना हुआ असली पुलिस से तो...

Sanjay Kumar Sharma | Updated: 17 Sep 2019, 08:01:45 PM (IST) Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • परतापुर क्षेत्र में एक को पकड़ा, दो फरार
  • वाहन चेकिंग के नाम पर रोकते थे राहगीरों को
  • असली पुलिस ने बातचीत से शक में पकड़ा

 

मेरठ। नए मोटर एक्ट के तहत वाहनों को लेकर सख्ती के बाद नए-नए मामले देखने को मिल रहे हैं। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में जबरदस्त चेकिंग चल रही है। पुलिस दुपहिया और अन्य गाडिय़ों के कागजत चेक कर रही है और कमी पाए जाने पर चालान करके भारी-भरकम जुर्माना लगा रही है। तीन युवकों ने इसे ही धंधा बनाने की खुरापात कर डाली। ये तीनों युवक पुलिस की वर्दी पहनकर दुपहिया व अन्य वाहनों को रोकते थे और कागजात चेकिंग करते थे। इसी दौरान उनसे लूट करते थे। परतापुर क्षेत्र में जब असली पुलिस पहुंची और रुककर इनकी बातें सुननी शुरू की तो शक के बाद इन्हें पकडऩे की कोशिश की। इनमें एक आरोपी पकड़ा गया, जबकि दो फरार हो गए।

यह भी पढ़ेंः ऊर्जा मंत्री की सुरक्षा में चूक, आईजी की गाड़ी के पास हुआ कुछ ऐसा कि मच गई अफरातफरी, देखें वीडियो

इस गिरोह के तीन लोग रात में वर्दी पहनकर सड़क पर निकलते थे और सुनसान वाली या फिर उस सड़क पर चेकिंग करते थे जिस पर लोगों का और वाहनों का आना जाना काफी कम रहता था। इसके बाद चेकिंग के दौरान कागज आदि चेक करते थे। कमी मिलने पर रूपये तो ऐंठते ही थे, इसी के साथ मोबाइल या अन्य सामान भी लूट लेते थे। इन फर्जी पुलिसकर्मियों ने अपना ठिकाना परतापुर के आसपास का क्षेत्र बनाया हुआ था। इसी के आसपास और हवाई पट्टी वाली गगोल रोड पर ये पुलिस की वर्दी पहनकर वाहनों की चेकिंग करते थे।

यह भी पढ़ेंः ऊर्जा मंत्री के स्वागत और किसानों की भीड़ से हांफ गया NH-58, यूपी का यह शहर हो गया जाम

इस गिरोह ने दो दिन पहले पराग डेयरी के ठेकेदार की गाड़ी रुकवाकर पहले चेकिंग की और उसके बाद उससे सोने की चेन और मोबाइल लूट लिया था। जो कि पकड़े गए सरगना से बरामद भी हो गया। इस गिरोह के तीन सदस्य अभी फरार हैं। दिल्ली की मानसरोवर कालोनी निवासी देवेश कुमार पुत्र बाबूलाल पराग डेयरी में ठेकेदार हैं। 14 सितंबर को परतापुर हवाई पट्टी के पास उनसे बदमाशों ने सोने की चेन, मोबाइल और नगदी लूट की थी। एक सूचना पर पुलिस ने परतापुर हाईवे के पास से तीन लोगों को वर्दी में देखा। जब असली पुलिस इनके पास गई तो इनकी बातचीत सुनकर शक हुआ। पुलिस ने जब इनसे पूछताछ की तो इनमें से दो फरार हो गए, जबकि पुलिस ने एक को पकड़ लिया।

यह भी पढ़ेंः पीएम मोदी के जन्मदिन पर छात्र-छात्राओं ने किया ये काम, जिसने भी देखा हो गया हैरान, देखें वीडियो

पकड़ा गया अंकुर पुत्र दुष्यंत निवासी मंतोली जानसठ मुजफ्फरनगर के रूप में हुई है। इस गिरोह में परतापुर हवाई पट्टी निवासी विशाल पुत्र जगपाल फौजी, राजीव पुत्र अजब सिंह गुर्जर और दीपक पुत्र पप्पू लंगड़ा शामिल हैं। पुलिस की वर्दी भी फरार बदमाशों के पास है। इंस्पेक्टर परतापुर आनंद प्रकाश मिश्र ने कहा कि तीनों आरोपितों को भी जल्द पकड़ लिया जाएगा।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned