प्रेमिका की धागे से गला दबाकर हत्या के बाद प्रेमी फरार

Highlights

- मेरठ के थाना लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र की घटना
- आरोपी के परिजनों को पूछताछ के लिए पुलिस ने हिरासत में लिया
- पति की मौत के बाद प्रेमी के पास ही रह रही थी महिला

By: lokesh verma

Published: 16 Nov 2020, 11:29 AM IST

मेरठ. एक प्रेमी द्वारा प्रेमिका की धागे से गला दबाकर हत्या का मामला प्रकाश में आया है। बताया जा रहा है कि प्रेमिका की हत्या के बाद शव को कमरे में ही छोड़कर युवक दो लाख की नगदी अपने साथ लेकर फरार हो गया। घटना की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस जांच में जुटी है। साथ ही पुलिस एक टीम को आरोपी की तलाश में दबिश दे रही है। आरोपी के परिजनों को पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

यह भी पढ़ें- अनजाने में पिता के हाथों चली गई मासूम बेटे की जान, परिवार में मचा हाहाकार

दरअसल, शबाना अपने पति तस्लीम की मौत के बाद अपने पांच बच्चों के साथ थाना लिसाड़ी गेट क्षेत्र के गांव लिसाड़ी में रईसुद्दीन के मकान में किराए पर रहती थी। इसी मकान में ई-रिक्शा चलाने वाला नूरूद्दीन भी किराए पर रहता था। लॉकडाउन के दौरान ही नूरूद्दीन ने यह मकान शबाना को किराए पर दिलाया था। दोनों के बीच काफी समय से परिचय था और यहां भी मकान में साथ ही रहते थे। देर रात करीब 12 बजे के आसपास शबाना और उसके बच्चे अपने कमरे में सोए थे। सुबह के समय शबाना के बेटे बिलाल ने नूरुद्दीन के कमरे में अपनी मां का शव देखा। शबाना की गला दबाकर हत्या की गई थी। गले में धागा बंधा हुआ था। इसके बाद बिलाल ने अपनी मौसी सोनी को घटना की सूचना दी।

सूचना के बाद थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस अधिकारियों ने पुष्टि की है कि शबाना और नूरुद्दीन के बीच प्रेम प्रसंग था। नूरूद्दीन ने ही मकान शबाना को किराए पर दिलाया था। पुलिस के अनुसार आरोपी कुछ रकम लूटकर और महिला की हत्या करके फरार हो गया है। महिला के परिजनों ने भी बताया कि घर से करीब दो लाख की नकदी गायब है। फिलहाल पुलिस नूरुद्दीन की तलाश कर रही है और उसके रिश्ते के भाई को हिरासत में लिया गया है। इस मामले में शबाना के परिजनों ने मुकदमा दर्ज कराया है। एसपी सिटी डाॅ. एएन सिंह ने बताया कि हत्या कैसे की गई इसका पता पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के बाद ही चल सकेगा। आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें- पुलिस और एसओजी टीम पर डंडों से हमला, भागकर बचाई जान

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned