scriptMajlish happening in Ramadan, empowering women in Islam | इमामबारगाहों और अजाखानों में मजलिसों का दौर जारी,इस्लाम में महिलाओं को बताया सशक्त | Patrika News

इमामबारगाहों और अजाखानों में मजलिसों का दौर जारी,इस्लाम में महिलाओं को बताया सशक्त

इमाम हजरत अली को उनकी शहादत पर इमामबारगाहों और अजाखानों में मजलिसों और अकीदत के दौर आज भी जारी रहे। इस दौरान इमाम हजरत अली को उनकी शहादत और जज्बे को याद किया। वहीं दूसरी ओर इस्लाम में महिलाओं को सशक्त बताया गया। इस दौरान इस्लाम में सशक्त महिलाओं की भूमिका निभाने वाली महिलाओं को याद किया गया।

मेरठ

Published: April 24, 2022 04:14:03 pm

इस समय रमजान का पाक महीना चल रहा है। जिसमें मजलिश और तकरीरों के दौर जारी हैं। वहीं इमाम हजरत अली की शहादत पर भी इमामबार गाहों और अजाखानों में मजलिसों और अकीदत की गई। इसके बाद तकरीर में इस्लाम में महिलाओं की सशक्तिकरण के बारे में बताया गया। जिसमें मौलाना तुर्कीरूहमान ने कहा कि इस्लाम में मुस्लिम महिलाएं हमेशा खुद को शिक्षित करने के लिए उत्सुक रही थीं। मुस्लिम महिलाएं इसके अलावा अपना अधिकतम समय उनसे सीखने के लिए खर्च करती थीं।
इमामबारगाहों और अजाखानों में मजलिसों का दौर जारी,इस्लाम में महिलाओं को बताया सशक्त
इमामबारगाहों और अजाखानों में मजलिसों का दौर जारी,इस्लाम में महिलाओं को बताया सशक्त
उन्होंने पैगंबर की पहली पत्नी, कदीजा अल कुबरा का जिक्र करते हुए बताया कि वे एक सफल व्यापारी और व्यवसायी महिला थीं, जो बेहद अमीर थीं क्योंकि उन्होंने पुरुष प्रधान समाज में पूर्ण अनुग्रह और गरिमा के साथ अपना व्यवसाय बड़ी क्षमता के साथ चलाया था। उन्होंने कहा कि इस्लामी इतिहास में अन्य अनुकरणीय व्यक्तित्वों के नामों में आयशा बिन्त अबू-बक्र (आरए), विश्वासियों की मां, खानसा आदि का जिक्र किया जो कि एक महान कवयित्री रहीं और आज तक उनकी पहचान अरबी साहित्य के बेहतरीन शास्त्रीय कवियों में से एक के रूप में बनी हुई हैं।
यह भी पढ़े : एशिया के सबसे बड़े सराफा बाजार में मौत बनकर झूल रहे बिजली के केबल में आग से अफरा—तफरी

फातिमा-अल-फहरी जिन्होंने 9वीं शताब्दी में फ़ेज़, मोरक्को में क़ारावियन मस्जिद की स्थापना की। ज़ैनब अल शाहदा का जिक्र करते हुए कहा कि वो एक प्रसिद्ध इस्लामी कानून विद्वान, शिक्षक और 12 वीं शताब्दी के प्रसिद्ध सुलेखक थी। इस दौरान बताया गया कि अतीत की मुस्लिम महिलाएं समाज के लिए एक प्रेरणादायक के रूप में रही हैं। उन्होंने इतिहास में कई मील के पत्थर हासिल किए थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाब"BJP से डर रही", तीस्ता की गिरफ़्तारी पर पिनाराई विजयन ने कांग्रेस की चुप्पी पर साधा निशानाअंबानी परिवार की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर एकनाथ शिंदे ने कहा- यह बालासाहेब के हिंदुत्व और आनंद दिघे के विचारों की जीत हैMaharashtra Political Crisis: शिंदे खेमा काफी ताकतवर, उद्धव ठाकरे के लिए मुश्किल होगा दोबारा शिवसेना को खड़ा करनासचिन पायलट बोले-गहलोत मेरे पितातुल्य, उनकी बातों को अदरवाइज नहीं लेता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.