खुलासा: रात के अंधेरे में होता है पशुओं का अवैध कटान, सुबह दिन निकलने से पहले ही भेज देते हैं 'सीमा पार'

Highlights
- मेरठ में पशुओं के अवैध कटान और सप्लाई को लेकर हुआ बड़ा खुलासा

- डेढ कुंटल अवैध मांस के साथ एक गिरफ्तार

- महानगर में सख्ती के बाद अब ग्रामीण क्षेत्रों में पसारे पांव

By: lokesh verma

Published: 28 Oct 2020, 12:07 PM IST

मेरठ. अवैध कटान की जड़े अब मेरठ शहर से होती हुई कस्बों और देहातों तक जा पहुंची हैं। महानगर क्षेत्र में पुलिस की सख्ती के बाद अब जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी पशु कटान जोरों पर है। बुधवार सुबह 4 बजे पुलिस ने पशु मांस के साथ एक व्यक्ति को पकड़ा तो इसका खुलासा हुआ। देहात क्षेत्र में रात के अंधेरे में पशु कटान होता है और सुबह दिन निकलने से पहले शहर की सीमा से बाहर दूसरे जिलों में भेज दिया जाता है।

यह भी पढ़ें- IPL पर इन कोडवर्ड के जरिये लग रहा करोड़ों का सट्टा, दो सट्टेबाजों ने किए चौंकाने वाले खुलासे

भावनपुर थाना क्षेत्र के अब्दुल्लापुर मेें पुलिस ने बुधवार सुबह चार बजे डेढ़ कुंतल मांस के साथ एक युवक को गिरफ्तार किया। मांस को ठेले से दुकान पर ले जाने की तैयारी थी। भावनपुर थाना प्रभारी रघुराज सिंह ने बताया कि मुर्दा मवेशी ठेकेदार के घर में पशुओं का अवैध कटान हो रहा था। पुलिस ने उसके बेटे तालिब को गिरफ्तार किया है। मीट को गांव के ही आशु की दुकान पर बेचने के लिए भेजा जा रहा था। आसिफ और नौशाद नाम के दो युवकों के नाम भी सामने आ रहे हैं। पुलिस सभी की धरपकड़ का प्रयास कर रही है।

वहीं, स्थानीय लोगों का कहना है कि एक हिस्ट्रीशीटर के संरक्षण में अब्दुल्लापुर के कई घरों में पशुओं का अवैध कटान का काम चल रहा है। आसपास के लोग यदि विरोध करते हैं, तो उनको धमकी दी जाती है। गिरफ्तार तालिब ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि रात में मवेशियों को काटकर उनका मांस बाहर भी भेजा जाता है। इसके लिए सबह 4 बजे से 6 बजे का समय निश्चित है। इस समय के बीच मांस को गाड़ी में लादकर शहर की सीमा से बाहर निकाल दिया जाता है।

यह भी पढ़ें- हाथरस कांड: पिड़िता का भाई बोला- न्याय व्यवस्था पर पूरा भरोसा, अब मिलेगी बहन के कातिलों को सजा

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned