दुनिया में अलग पहचान बनाएगा जेवर एयरपोर्ट, तमाम सुविधाओं से होगा लैस: मेरठ मंडलायुक्त

गांवों को खाली करने लगे हैं लोग। प्रशासन द्वारा नई जगह किया जा रहा है शिफ्ट। मंडायुक्त ने अधिकारियों संग बैठक भी की।

ग्रेटर नोएडा। देश में कोरोना (coronavirus) की दूसरी लहर का असर अब कम होने लगा है और अब अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसी के साथ उत्तर प्रदेश के जेवर में बनने जा रहे विश्व स्तर के चौथे अंतरराष्ट्रीय जेवर एयरपोर्ट (jewar airport) के निर्माण के काम में तेजी लाने और विस्थापित परिवारों को सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए मेरठ मंडल के कमिश्नर सुरेंद्र सिंह (meerut mandal commissioner) ने स्थल निरीक्षण किया। दौरे के बाद मंडलायुक्त ने यमुना विकास प्राधिकरण के ऑफिस के सभागार में यमुना प्राधिकरण के सीईओ, डीएम समेत अन्य अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की।

यह भी पढ़ें: भारत के सबसे बड़े Airport के लिए SBI ने दिया 3725 करोड़ का लोन, 29,500 करोड़ आएगी लागत

दरअसल, कमिश्नर सुरेंद्र सिंह ने ग्राम रोही, नंगला छीतर, नगला शरीफ खां, दयानतपुर खेड़ा, किशोरपुर, नंगला गणेशी का दौरा कर स्थल निरीक्षण किया। इस दौरान पाया गया कि नंगला गणेशी के 238 परिवारों के द्वारा गांव को खाली कर दिया गया है और सभी परिवार एक-दो दिन के अंदर पूर्ण रूप से गांव खाली कर देंगे‌। यहीं पर जेवर अंतरराष्ट्रीय ग्रीन फील्ड इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रनवे तैयार होना है। कमिश्नर ने अन्य गांवों का दौरा करते हुए पाया कि सभी परिवार अपने विस्थापित स्थान पर पहुंच रहे हैं और शिफ्टिंग का कार्य तेजी के साथ सुनिश्चित किया जा रहा है। मंडल आयुक्त ने ग्रामीण भ्रमण के दौरान संबंधित अधिकारियों को स्पष्ट रूप से निर्देश देते हुए कहा कि विस्थापित परिवारों के लिए सभी आवश्यक मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए अधिकारी सकारात्मक रुख अपनाते हुए कार्यवाही सुनिश्चित करें। जहां पर विस्थापित परिवारों को बसाया जा रहा है, वहां पर सभी स्कूल, सामुदायिक केंद्र, आंगनवाड़ी केंद्र तथा अन्य सभी व्यवस्थाएं एक मॉडल के रूप में तैयार कराई जाए ताकि सभी विस्थापित परिवारों को एक अच्छी अनुभूति प्राप्त हो सके।

यह भी पढ़ें: 2024 में जेवर एयरपोर्ट के शुभारंभ के साथ फिल्म सिटी में शुरू होगी शूटिंग, सीएम योगी को भेजी डीपीआर

कमिश्नर सुरेंद्र सिंह के द्वारा यमुना विकास प्राधिकरण के कार्यालय में पहुंचकर सभागार में यमुना विकास प्राधिकरण के के ऑफिस के सभागार में यमुना प्राधिकरण के सीईओ, डीएम बुद्ध नगर अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की। जिसमें उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय जेवर ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट को लेकर वर्तमान तक सभी अधिकारियों के द्वारा आपसी सामंजस्य स्थापित करते हुए युद्ध स्तर पर कार्य किया गया है। जिससे एयरपोर्ट का कार्य उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप आगे बढ़ रहा है। इसके लिए सभी अधिकारी गण बधाई के पात्र हैं। एयरपोर्ट को लेकर वॉटर मैनेजमेंट प्लान बनाया जाए। प्लांटेशन के संबंध में उद्यान वैज्ञानिकों का सहयोग प्राप्त किया जाए। स्ट्रीट लाइट सोलर लाइट के रूप में स्थापित कराया जाए, ताकि अंतरराष्ट्रीय इंटरनेशनल एयरपोर्ट एक अपनी अलग पहचान बना सके‌। यह तमाम सुविधाओं से लैस होगा।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned