मेरठ: मॉब लिंचिंग के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज, इंटरनेट पर लगाया बैन- देखें वीडियो

  • सोशल मीडिया पर फैल रही अफवाहों को रोकने के लिए मेरठ प्रशासन ने बैन किया इंटरनेट
  • बिना अनुमति जुलूस निकालने पर पुलिस ने की थी प्रदर्शनकारियों को रोकने की का‍ेशिश
  • 70 नामजद और 1000 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया

By: sharad asthana

Updated: 01 Jul 2019, 03:48 PM IST

मेरठ। मॉब लिंचिंग के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज के बाद डीएम ने देर रात जनपद में इंटरनेट पर बैन लगा दिया। सोशल मीडिया पर फैल रही अफवाहों को रोकने के लिए प्रशासन ने यह कदम उठाया। माना जा रहा है क‍ि सोमवार शाम तक जनपद में इंटरनेट दोबारा चालू हो सकता है। इसके साथ ही जनपदवासी एसएमएस भी भेज नहीं पा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: माॅब लिंचिंग के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज, एक दर्जन घायल, तनाव

लाठीचार्ज में कई लोग हुए घायल

रविवार शाम को मॉब लिंचिंग के खिलाफ लोगों ने प्रदर्शन किया था। बिना अनुमति जुलूस निकालने पर पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने की का‍ेशिश की थी। लाठीचार्ज में कई लोग घायल भी हुए थे। मामले में एक हजार अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है जबक‍ि कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है। इसके बाद डीएम ने देर रात करीब पौने 2 बजे इंटरनेट पर बैन लगाने का आदेश जारी किया। फिलहाल यह कब तक रहेगा, इस बारे में कुछ नहीं कहा गया है। डीएम के अनुसार, ऐसा गलत बातों को फैलने से रोकने के लिए किया गया है।

यह भी पढ़ें: दंगल गर्ल जायरा वसीम के फिल्मी दुनिया को अलविदा कहने पर देवबंदी आलिम ने कही ये बड़ी बात

फैज-ए-कॉलेज में हुई थी सभा

आपको बता दें क‍ि रविवार शाम को झारखंड में हुई मॉब लिंचिंग के विरोध में जुलूस निकाला गया था। युवा सेवा समि‍ति के बैनर तले पहले तो फैज-ए-आम कॉलेज में सभा की गई। उसके बाद लोगों ने जुलूस निकाला। प्रदर्शनकारियों की योजना हापुड़ अड्डा चौराहे तक जुलूस निकालने की थी। प्रशासन ने जनपद में धारा 144 लागू होने की वजह से जुलूस की अनुमति नहीं दी। इसके बाद युवा सेवा समिति के अध्‍यक्ष बदर अली ने जुलूस की जगह फैज-ए-आम पर शोकसभा करने का ऐलान किया। प्रशासन ने इसके लिए भी मना किया।

यह भी पढ़ें: VIDEO: डीएम ने मुख्यमंत्री के सामने पत्रकारों को कमरे में किया बंद, मंत्री ने दिया कार्यवाई का आश्वासन

इंदिरा चौक पर पुलिस अधिकारियों से की हाथापाई

इसके बावजूद शोकसभा में काफी लोग पहुंच गए। इसके बाद उन्‍होंने जुलूस भी निकाला। पुलिस ने कई जगह जुलूस को रोकने की कोशिश की। आरोप है कि इंदिरा चौक पर पर्दर्शनकारियों ने सीओ और दो इंस्‍पेक्‍टरों के साथ हाथापाई कर दी। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज कर उन्‍हें खदेड़ा। पुलिस ने इस मामले में बदर अली समेत 70 नामजद और 1000 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है।

स्‍कूटी और बाइक छोड़कर भागे प्रदर्शनकारी

इंदिरा चौक पर एसपी सिटी ने भीड़ को रोकने की कोशिश की। आरोप है क‍ि इस पर प्रदर्शनकारियों ने पुलिस अधिकारियों से धक्‍का-मुक्‍की कर दी। इतना ही भीड़ में शामिल लोगों ने पुलिस अधिकारियों से हाथापाई भी की। भीड़ में शामिल लोगों ने पथराव किया तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। इसके बाद वहां भगदड़ मच गई, जिस कारण कई प्रदर्शनकारी अपनी स्‍कूटी और बाइक छोड़कर भाग गए।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर

sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned