मेरठः मां-बेटे की हत्या से पहले चुनावी रंजिश में कर दी गई थी महिला के पति की भी हत्या

परतापुर के गांव सोरखा के प्रधानी चुनाव से चली आ रही थी रंजिश

By: Iftekhar

Published: 25 Jan 2018, 09:02 PM IST

मेरठ. परतापुर के गांव सोरखा में मां-बेटे की ऐलानिया हत्या के आरोपी मृतक के रिश्तेदार हैं। इससे पहले 19 अक्टूबर 2016 को मृतक महिला के पति नरेंद्र की भी हत्या कर दी गई थी। दरअसल, सौबीर और नरेंद्र खानदान के भार्इ थे। सौबीर ने 2015 में ग्राम प्रधान का चुनाव लड़ा था। सोरखा और अंजौली गांव का एक ही गांव प्रधान होता है। सोरखा से सौबीर औरैर अंजौली से विक्रम सिंह ने चुनाव लड़ा था। इस चुनाव में विक्रम को जीत मिली थी। सौबीर को अंदेशा था कि नरेंद्र और उसके परिवार ने उसे वोट नहीं दी थी। उन पर पड़ोस गांव के उम्मीदवार को वोट को वोट देने का शक था। चुनाव के बाद सौबीर नरेंद्र से रंजिश रखने लगा था। इसको लेकर दोनों में कर्इ बार कहासुनी भी हुर्इ थी। नरेंद्र के बेटे भोलू और सौबीर के बीच मारपीट भी हुर्इ थी। इसके बाद यह रंजिश और भी बढ़ गर्इ थी। इसी बीच 19 अक्टूबर 2016 को नरेंद्र की हत्या कर दी गई।

इस हत्या में नरेंद्र की पत्नी और उसका बेटा भोलू चश्मदीद गवाह थे। सौबीर जेल में बंद है और गुरुवार को इस मामले में दोनों की गवाही होनी थी। उससे एक दिन पहले ही बाइक पर सवार तीनों हमलावरों मांगे, गोलू और संजय ने गांव साेरखा में घर से कुछ दूर अपनी कार से जा रहे भाेलू को रास्ते में रोककर गोलियाों से भून दिया। इसके बाद इन तीनों ने भोलू के घर जाकर उसकी मां निचित्रा की हत्या कर दी। भोलू को इसका काफी पहले से अंदेशा था। इसलिए उसने अपने घर पर सीसीटीवी कैमरे लगवाए थे। भाेलू सपा कार्यकर्ता था।

15 लाख का दिया था ऑफर
पुलिस ने तीनों हत्यारोपियों में गोलू को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में गोलू ने बताया कि भोलू और उसकी मां से समझौते की बात चल रही थी, लेकिन दोनों मान नहीं रहे थे। उन्हें 15 लाख रुपए तक का ऑफर भी दिया था, लेकिन वे जब नहीं माने, तो उनकी हत्या की प्लानिंग की गर्इ।

meerut

पुलिस ने सीसीटीवी फूटेज के आधार पर हत्यारोपियों की पहचान कर ली है। हत्यारोपियों की पहचान मांगे उसके भांजे गोलू और उसके साथी संजय के रूप में हुई है। पुलिस ने इन में से एक आरोपी गोलू को गिरफ्तार कर लिया है। सौबीर उर्फ मानू और रिश्ते के भार्इ भोलू उर्फ बलविन्द्र के घर पास-पास हैं। सौबीर इस समय जेल में बंद है, उस पर भोलू (जिसकी हत्या बुधवार को की गई) के पिता नरेंद्र सांगवान की हत्या का आरोप है। भोलू और उसकी मां निछत्तर उर्फ निचित्रा इसके चश्मीद गवाह थे। दोनों की गुरुवार को कोर्ट में गवाही होनी थी। इससे पहले बुधवार को ही इन दोनों की हत्या कर दी गई। दिल दहला देने वाले इस हत्याकांड में शौबीर के परिवार के मांगे, उसके भांजे गोलू व इनके एक साथी संजय को इसमें नामजद किया गया है। पुलिस ने गोलू को इनमें गिरफ्तार कर लिया है।

Show More
Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned