नवाजुद्दीन बोले- ग्रेटर नोएडा में फिल्म सिटी बनने से वेस्ट यूपी की लोकेशन भी लुभाएंगी डायरेक्टर को

Highlights
- वेस्ट यूपी में शूटिंग के लिए मिलेगी शानदार लोकेशन
- बिजनौर, शुक्रताल और जैन तीर्थ में शूटिंग की लोकेशन
- वन, पहाडी, खंडहर, किला, स्मारक हैं बेहतरीन जगह

By: lokesh verma

Published: 24 Sep 2020, 10:53 AM IST

मेरठ. नोएडा में फिल्म सिटी की स्थापना का मेरठ के हस्तिनापुर और गंगा के खादर को बड़ा फायदा मिल सकता है। खासकर बिजनौर बैराज, शुक्रताल और गढ़ मुक्तेश्वर को भी, क्योंकि यहां शूटिंग के लिए शानदार लोकेशन हैं। फिल्म सिटी पड़ोस में होगी तो निर्देशक शूटिंग के लिए गंगा के किनारे बसे इन लोकेशन पर आएंगे। उद्यमियों और इवेंट प्रबंधकों का मानना है कि ग्रेटर नोएडा में फिल्म सिटी से मेरठ और पश्चिम यूपी के उद्योग को भी बढ़ावा मिलेगा। बुढ़ाना के नवाजुद्दीन सिदृीकी पश्चिम यूपी की कई लोकेशन पर शूटिंग कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें- जिस काम को आजम खान नहीं कर सके पूरा, उसे योगी सरकार ने किया पूरा

'पत्रिका' से यहां शूटिंग के बारे में जब फिल्म अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि यहां पर बहुत संभावनाएं है, जो कि फिल्मी लोकेशन के लिए बेस्ट हैं। नोएडा में फिल्म सिटी खुलने के बाद वेस्ट के विकास को भी पंख लगेंगे। उन्होंने बताया कि मुजफ्फरनगर में कई ऐसी अछूती जगहें हैं, जहां पर शूटिंग फिल्माई जा सकेगी। महाभारत की पौराणिक स्थल मेरठ जिले में हैं। यहां पर बड़ी संख्या में प्राचीन मंदिर, सरोवर, वन, पहाड़ी, खंडहर, किला, गंगा का किनारा, प्राचीन घाट, रेतीला स्थान, स्मारक आदि हैं। जहां शूटिंग के लिए बेस्ट लोकेशन है।

मेरठ मालीवुड के कई कलाकारों ने बालीवुड में अपना जलवा दिखाया है। मेरठ, मुजफ्फरनगर के अलावा बिजनौर की कई हस्तियों ने अपनी कला का फन बालीवुड में बिखेरा है। इसलिए ग्रेटर नोएडा में फिल्म सिटी होगी तो मेरठ को फायदा मिलेगा।

मेरठ मंडल में इन स्थानों पर हो सकती है शूटिंग

मेरठ के हस्तिनापुर के अलावा, बरनावा, शुक्रताल, जैन तीर्थ, शुक्रताल से लेकर गढ़मुक्तेश्वर तक के गंगा बेल्ट पर शूटिंग की जा सकती है। मेरठ में पहले भी कई फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है। मेरठ के घंटाघर को शाहरूख और आमिर खान की फिल्मों में दिखाया जा चुका है। औघड़नाथ मंदिर को भी फिल्मों में दिखाया जा चुका है।

यह भी पढ़ें- दिल्ली की आजादपुर मंडी में प्रदर्शन करने निकले किसान, बार्डर पर पुलिस से हुई झड़प

वहीं, हस्तिनापुर पर शोध कर रहे डाॅ. प्रियांक भारती का कहना है कि हस्तिनापुर में काफी अच्छी लोकेशन मौजूद हैं। उन्होंने यह भी बताया कि ये सेंचुरी क्षेत्र है और यहां पर सभी प्रकार की गतिविधियों पर प्रतिबंध है। इसके लिए सरकार से विशेष अनुमति के बाद ही शूटिंग की जा सकेगी। उन्होंने बताया कि गंगा के किनारे का इलाका फिल्मी शूटिंग के लिए काफी आकर्षक है। इसके अलावा गढ़ गंगा की लोकेशन भी डायरेक्टरों को अपनी ओर लुभाएगी। उन्होंने कहा कि हस्तिनापुर को गौरवशाली इतिहास बनाने में फिल्मसिटी साबित होगी।

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned