अब घर बैठे मोबाइल पर पाए कोरोना रिपोर्ट

Highlights

- 'लैब रिपोर्ट' लिंक से मिलेगी मोबाइल पर कोरोना की रिपोर्ट
- सैंपलिंग में दर्ज मोबाइल नंबर पर आएगा ओटीपी
- रिपोर्ट के लिए अब अस्पताल के चक्कर काटने की जरूरत नहीं

By: lokesh verma

Published: 23 Sep 2020, 11:06 AM IST

मेरठ. कोरोना के बढ़ रहे संक्रमण और रिपोर्ट मिलने में देरी को देखते हुए अब लैब रिपोर्ट नामक लिंक तैयार किया गया है, जिसके माध्यम से अब घर बैठे मोबाइल पर कोरोना की जांच रिपोर्ट देखकर संक्रमण का पता लगाया जा सकेगा। मतलब अब कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए अस्पताल के चक्कर काटने की जरूरत नहीं होगी। अब कोरोना की जांच रिपोर्ट घर बैठे मोबाइल पर मिलेगी।

यह भी पढ़ें- UP के इस जिले में तेजी से ठीक हो रहे कोरोना मरीज, अब तक 9792 हुए डिस्चार्ज

दरअसल, पहले कोरोना की जांच कराने वाले व्यक्ति को पॉज़िटिव होने की सूचना कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर अथवा संबन्धित स्वास्थ्य केंद्र के माध्यम से दी जाती थी। प्रायः सैंपलिंग के बाद लोग कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर अथवा संबन्धित स्वास्थ्य केन्द्रों से संपर्क करते थे, लेकिन अब कोविड जांच करवाने वाले अपनी रिपोर्ट मोबाइल पर ही देख सकते हैं। इसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा ‘लैब रिपोर्ट’ नाम से लिंक तैयार किया गया है। इसमें मोबाइल नंबर डालकर रिपोर्ट देखी जा सकेगी। इसके लिए सरकार द्वारा तैयार किए गए https://labreports.upcovid19tracks.in/ लिंक पर क्लिक करना होगा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. राजकुमार ने बताया सैंपलिंग कराने वाले रिपोर्ट जानने के लिए उत्सुक होते हैं। अब कोरोना टेस्ट करवाने वाले व्यक्ति अपनी रिपोर्ट घर बैठे अपने मोबाइल पर देख सकेंगे। इसके लिए https://labreports.upcovid19tracks.in/ लिंक पर क्लिक करना होगा। कोविड की सैंपलिंग के दौरान लोगों से मोबाइल नंबर लिया जाता है। इस नंबर को व्यक्ति के सैंपल के साथ दर्ज कर दिया जाता है। टेस्ट करवाने वाले व्यक्ति को दिए गए लिंक पर क्लिक करके सैंपल कलेक्शन की तारीख व मोबाइल नंबर की एन्ट्री करनी होगी। वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) सैंपल के साथ दर्ज किए गए मोबाइल नंबर पर ही आएगा। यह ओटीपी डालते ही संबंधित व्यक्ति की रिपोर्ट मोबाइल की स्क्रीन पर दिखने लगेगी। इस रिपोर्ट को आसानी से सेव या प्रिंट करवा सकता है।

उन्होंने बताया नई व्यवस्था से उन लोगों को ज्यादा सहूलियत होगी जो कोविड पॉजिटिव होने के बाद रिपोर्ट प्राप्त नहीं कर पाते हैं। किसी के हस्ताक्षर या मुहर की जरूरत नहीं पड़ेगी। उन्होंने बताया पहले कोरोना का सैंपल देने के बाद तीन से चार दिन तक का इंतजार करना पड़ता था। अब इस सुविधा से लोगों को इसका सीधा लाभ होगा।

यह भी पढ़ें- कोरोना से मरने वाले मंत्री को सीएम योगी ने दिया बड़ा तोहफा, जानकर आप भी करेंगे तारीफ

coronavirus Coronavirus Outbreak
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned