VIDEO: बीमार घोड़े की मदद के लिए एनिमल केयर को किया फोन तो 10 सेकेंड में खाते से गायब हो गए एक लाख

Highlights

  • मेरठ के मंगलपांडे नगर का मामला आया सामने
  • फार्म भरने के बाद 10 रुपये कंफर्म करते ही हुई ठगी
  • पुलिस में शिकायत, साइबर सेल की टीम जांच में जुटी

 

मेरठ। मेरठ में आए दिन साइबर ठगी के नए-नए मामले सामने आ रहे हैं। साइबर ठगी करने वाले प्रतिदिन नए-नए तरीके इजाद कर रहे हैं। इस बार जानवरों को साइबर ठगों ने अपना हथियार बना लिया। ठगों ने फाइनेंस कंपनी संचालक को निशाना बनाते हुए महज 10 सेकेंड में बैंक अकाउंट से एक लाख रुपये उड़ा दिए। पीडि़त ने साइबर सेल, पुलिस और आरबीआई से ठगी की शिकायत की है।

यह भी पढ़ेंः VIDEO: गणतंत्र दिवस और दिल्ली चुनाव से पहले पकड़ी गई हथियारों की खेप, गहरी साजिश की थी तैयारी

सूरजकुंड निवासी नवीन चौधरी का मंगलपांडे नगर में हाउसिंग फाइनेंस का ऑफिस है। बीती शनिवार को उनके कार्यालय के बाहर एक घोड़ा बीमार पड़ा दिखा तो उन्होंंने सोचा इसकी मदद की जाए। इसके लिए उन्होंने अपने मोबाइल पर गूगल पर एनिमल केयर सर्च किया। इसके बाद उसके टोल फ्री नंबर पर कॉल की। फोन रिसीव करने वाले व्यक्ति ने 10 मिनट में मदद उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। साथ ही एक अन्य नंबर से फोन आने की बात कही। फोन काटने के कुछ ही सेकेंड में दूसरे नंबर से फोन आया।

यह भी पढ़ेंः Weather Alert: ठंड का प्रकोप रहेगा जारी, सीजन की आखिरी बारिश होगी इस दिन

फोन करने वाले शख्स ने मदद के एवज में एक फार्म भरने को कहा। जिसका शुल्क 10 रुपये था। नवीन के हां करते ही उनके फोन पर एक लिंक भेजा गया। लिंक पर क्लिक करते ही एक पेज खुला, जिस पर एनिमल केयर लिखा था। उन्होंने फार्म भर दिया। धनराशि के बॉक्स में 10 रुपये डालते ही कन्फर्मेशन आई। उनके कंफर्म करते ही खाते से एक लाख रुपये की धनराशि कट गई। उन्होंने उस नंबर पर संपर्क किया तो वह बंद था। ठगी का अहसास होने पर उन्होंने मेडिकल थाने में तहरीर दी। साइबर सेल में भी शिकायत की। एसपी क्राइम रामअर्ज का कहना है कि युवक ने साइबर सेल में ठगी की शिकायत की है। मामले की जांच की जा रही है।

Show More
sanjay sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned