55 साल से अधिक उम्र के गार्ड और बीमार रनिंग स्टाफ के हाथ में नहीं होगी ट्रेन की कमान

  • रेलवे ने जारी किया आदेश
  • दुर्घटनाएं कम करने काे पहल

By: shivmani tyagi

Updated: 17 Sep 2020, 07:46 PM IST

मेरठ। रेलवे ने दुर्घटनाएं रोकने के लिए नई याेजन बनाई है। अब ट्रेन के रनिंग स्टाफ या गार्ड की उम्र 55 साल से अधिक नहीं हाेगी। जाे रेलकर्मी बीमार हैं उनके हाथ में अब ट्रेन की कमान नहीं दी जाएगी। ऐसे कर्मचारियों को दूसरी ड्यूटी पर लगाया जाएगा। इन कर्मचारियों को घर बैठे ही वेतन दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें:

मेरठ में पिछले दिनों गार्ड से अधिक ड्यूटी कराने के कारण मौत होने के मामले को लेकर सभी संगठनों ने आंदोलन शुरू कर दिया था। इस मामले को लेकर डीआरएम दिल्ली के आदेश पर सीनियर डीपीओ ने संबंधित विभाग के अधिकारियों, नरमू, उरमू, ओबीसी रेलवे इम्प्लाइज एसोसिएशन, एससीएंडएसटी इम्प्लाइज एसोसिएशन के प्रतिनिधियों को वार्ता के लिए बुलाया था। शाम को चार बजे सभागार में बैठक चल रही थी, दूसरी ओर गार्ड काउंसिल के सदस्यों द्वारा बाहर प्रदर्शन किया जा रहा था। गार्ड काउंसिल के सदस्योंं का कहना था कि बैठक में जितने प्रतिनिधि बुलाए गए हैंं, उसमें कोई भी गार्ड नहीं हैं। गार्ड काउंसिल के प्रतिनिधि को बैठक में बुलाया जाना चाहिए था, वह गार्ड की वास्तविक समस्या को अधिकारियों के सामने रखता। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व काउंसिल से जोनल सचिव मुकुल कर रहे थे। बैठक में गार्ड की ड्यूटी लगाने पर अनियमिता बरतने पर रोक लगाने, बीमार गार्ड को अस्पताल में भर्ती कराने को एम्बुलेंस से ले जाने आदि का मामला उठाया।

यह भी पढ़ें: जिस बेटी और पत्नी की एक आवाज सुन हो जाता था निसार, उन्हीं की ले ली जान, जानिये पूरा मामला

डीआरएम ने बताया कि कोरोना शुरू होते ही रेलवे बोर्ड ने आदेश दिया था कि बीमार या 55 साल से अधिक उम्र के कर्मचारी ड्यूटी करने नहीं करें, उससे बनी ड्यूटी की वेतन मिलेगा। इसके बाद भी गार्ड व रनिंग स्टाफ ड्यूटी पर आ रहे हैं। बोर्ड के आदेश के अनुसार बीमार व 55 साल से अधिक उम्र के गार्ड व रनिंग स्टाफ को ड्यूटी पर नहीं लगाया जाएगा। रेलवे सूत्रों के अनुसार यह उन लोगों के लिए राहत की बात है जिन्हें उम्र 55 साल से अधिक हो गई और वे बीमार रहते हैं। मेरठ रेलवे स्टेशन पर कार्यरत गार्डों ने रेलवे की इस योजना का स्वागत किया है।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned