scriptPadmashree award winner said environment and water conservation should | Heroes of Environment : पदमश्री पुुरस्कार विजेता ने कर डाली पर्यावरण और जल संरक्षण को चुनावी मुददा बनाने की मांग | Patrika News

Heroes of Environment : पदमश्री पुुरस्कार विजेता ने कर डाली पर्यावरण और जल संरक्षण को चुनावी मुददा बनाने की मांग

Heroes of Environment : आजकल चुनावी मुददे कैसे हैं। इनको बताने या कहने की जरूरत नहीं है। आजकल चुनावी मुददे जातिवाद,लुभावने वादे और धर्म आधारित हो चुके हैं। पर्यावरण और जल संरक्षण की बातें तो सभी सरकारें करती हैं। लेकिन इनको कोई भी दल अपना चुनावी मुददा नहीं बनाता। आज मेरठ पहुंचे पदमश्री पुरस्कार विजेता ने इनको भी चुनावी मुददा बनाने की मांग उठाई।

मेरठ

Published: December 24, 2021 08:09:01 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ . Heroes of Environment : एक कालेज में आज नेशनल कॉन्फ्रेंस ऑन रिवाइवल ऑफ रिवर कॉलिस हेल्थ पर गोष्ठी का आयोजन किया गया। पदमश्री पुरस्कार विजेता बाबा बलबीर सिंह सीचेवाल पदमश्री के साथ वाटर हीरो के रूप में जाने जाते है। बाबा बलबीर पंजाब की प्रदूषित काली बेई नदी को साफ करने का अभियान चलाने वाले दुनिया भर से चुने गए 30 'हीरोज ऑफ एन्वायरमेंट' या दुनिया के पर्यावरण नायक में शामिल किया है।
Heroes of Environment : पदमश्री पुुरस्कार विजेता ने कहा पर्यावरण और जल संरक्षण बने चुनावी मुददा
Heroes of Environment : पदमश्री पुुरस्कार विजेता ने कहा पर्यावरण और जल संरक्षण बने चुनावी मुददा
मेरठ में उन्होंने कहा कि समाज के लोगों को अपने पर्यावरण के प्रति जागरुक होना पड़ेगा और वोट की राजनीति में पर्यावरण,जल संरक्षण को ही प्राथमिकता देनी होगी। लोगों को संकल्प ले लेना चाहिए कि जो पर्यावरण व जल की रक्षा करेंगे वोट उन्हीं को देंगे। साथ ही उन्होंने पर्यावरण संरक्षण व जल संरक्षण पर काम करने वाले लोगों की जानकारी साझा किया।
बाबा बलबीर सीचेवाल ने कहा कि वाटर एक्ट को लागू कराया जाना चाहिए। युवा पीढ़ी को सोशल मीडिया का प्रयोग करते हुए रोज पर्यावरण व जल संरक्षण पर जागरूकता फैलानी चाहिए। सभा से पहले उन्होंने डॉ.अवधेश कुमार के साथ काली नदी का भ्रमण किया। विशिष्ठ अतिथि सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने कहा कि मेरठ में काली नदी का मामला संसद में प्रमुखता से उठाया गया था और अब आगे भी प्रयासरत रहेंगे।
ये भी पढे : विश्व में क्रिसमस से जुड़ी है ये प्राचीन परंपरा, ईसा जन्म के समय गाया गया था ये पहला गीत

कांफ्रेंस में विशिष्ट अतिथि शोभित विवि से असिसेंट प्रो. प्रियंक भारती चिकारा ने बूढ़ी गंगा और हस्तिनापुर की बाढ़ से रक्षा विषय को जोड़ते हुए अपना शोाध प्रस्तुत किया। जैन गर्ल्स डिग्री कालेज मु.नगर से प्राचार्या डॉ0 सीमा जैन ने जल संरक्षण पर अपने विचार रखे। दिल्ली से डॉ0 मीना कुमारी जांगीर, सिंचाई विभाग उपेंद्र नाथ कवर, तीन अनुभूति चौहान ने अपने विचार प्रस्तुत किए।
समाजसेवी और व्यापार संघ के महामंत्री विपुल सिंघल ने काली नदी में,नदी के साथ चल रहे उद्योग को प्रदूषण के मानकों के अनुरूप संचालित करने की बात कही। बाबाजी का ध्यान इस और दिलाया कि मेरठ काली नदी के साथ लगे सभी गांव में बहुत से लोग कैंसर के शिकार हो चुके हैं। जिस पर बाबाजी ने एनजीटी के संज्ञान में इस बात को लाये जाने की सलाह दी। इस अवसर पर अनुभूति चौहान, विपुल सिंघल, नवीन अग्रवाल, गौरव शर्मा, प्रभात राय, पायल गर्ग, रितु गोस्वामी आदि रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Azadi Ka Amrit Mahotsav में बोले पीएम मोदी- ये ज्ञान, शोध और इनोवेशन का वक्तपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCorona cases in India: कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए केस, मौत का आंकड़ा 450 के पारराहुल गांधी से लेकर गहलोत तक कांग्रेस के नेता देश के विपरीत भाषा बोलते हैं : पूनियांश्रीलंकाई नौसेना जहाज की भारतीय मछुआरों के नौका से टक्कर, सात मछुआरे बाल बाल बचेटीआई-लेडी कॉन्स्टेबल की लव स्टोरी से विभाग में हड़कंप, दो बच्चों का पिता है टीआई
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.