पतंजलि के डिस्ट्रीब्यूटर ने डिप्रेशन में लिखा मैं मर रहा हूं, मुझे माफ कर देना और खा लिया जहर

कर्ज में डूबे कारोबारी ने होटल के कमरे में जहर खाया

By: Iftekhar

Published: 12 Nov 2017, 08:50 PM IST

मेरठ. योग के माध्यम से देश को डिप्रेशन मुक्त बनाने का दावा करने वाले योग गुरु बाबा राम देव के मेरठ के एक डिस्ट्रीब्यूटर ने भारी कर्ज के दबाव के कारण डिप्रेशन में आकर आत्महत्या कर ली है। कर्ज में डूबे इस कारोबारी ने सदर थाना क्षेत्र स्थित एक होटल के कमरे में जहर खाकर जान दे दी। सुसाइड नोट में मृतक ने अपने परिवार वालों से माफी मांगते हुए खुद को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है। सुसाइड नोट में मृतक ने लिखा था मैं मर रहा हूं, कृपया मुझे माफ कर दें। नौचंदी थाना क्षेत्र के गढ़ रोड गांधी नगर निवासी अनिल गोयल पुत्र राजेन्द्र प्रसाद पतंजलि प्रोडक्ट्स के डिस्ट्रीब्यूटर थे। पत्नी डौली के अनुसार अनिल पिछले तीन दिन से लापता थे, जिसके चलते उन्होंने नौचंदी थाने में उनकी गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी। उन्होंने यह भी बताया कि अनिल काफी दिन से परेशान थे और वह किसी को कुछ बता भी नहीं रहे थे। गुरुवार की शाम को एक फोन आया और वह बाहर चले गए। देर रात तक जब वह घर नहीं लौटे तो पत्नी ने मोबाइल पर फोन किया, लेकिन वह बंद था।

रोडवेज बस स्टैंड के सामने स्थित होटल प्रिंस के स्टाफ के मुताबिक शनिवार की शाम करीब चार बजे अनिल होटल में आए और बुकिंग कराने के बाद कमरा नंबर 801 में चले गए। रविवार की सुबह वेटर उन्हें चाय के लिए पूछने गया तो काफी देर तक दरवाजा खटखटाने के बावजूद कमरा न खुलने पर होटल के स्टाफ ने डायल 100 पर सूचना दी, जिसके बाद मौके पर पहुंची डायल 100 और सदर पुलिस ने होटल के कमरे का दरवाजा तोड़ा। कमरे में बैड पर अनिल (50) का शव बरामद होने के बाद सनसनी फैल गई। कमरे से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। इसमें मृतक ने कर्ज के चलते डिप्रेशन में आकर जान देने की बात लिखी है। घटना की जानकारी बाद मृतक के परिवार में कोहराम मच गया। परिजनों ने बताया कि अनिल लाखों रूपए के कर्जदार हो गए थे। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए जांच शुरू कर दी है।

Iftekhar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned