दो दिन से STF रख रही थी इस इनामी पर नजर, मौका मिलते ही कर दिया बुरा हाल

Highlights:

-दिल्ली स्पेशल सेल के साथ मिलकर किया शूटआउट
-4 महीने से रह रहा था किराए के मकान में
-अजमल की तलाश मेरठ और मुजफ्फरनगर पुलिस के साथ ही दिल्ली पुलिस को भी थी

By: Rahul Chauhan

Published: 16 Oct 2020, 03:32 PM IST

मेरठ। 25 हजार रुपये के इनामी अजमल को आखिरकार मेरठ एसटीएफ की टीम ने तलाश ही लिया। अजमल दिल्ली में महरौली इलाके में 4 महीने से किराए पर मकान लेकर रह रहा था। उसने यहां अपनी पहचान छुपा रखी थी। मकान किराए पर लेने के लिए उसने फर्जी आधार कार्ड का सहारा लिया था। अजमल की तलाश मेरठ और मुजफ्फरनगर पुलिस के साथ ही दिल्ली पुलिस को भी थी। मेरठ एसटीएफ दो दिन से अजमल की गतिविधियों पर नजर रखे हुए थी। लेकिन दिल्ली में वह बिना दिल्ली पुलिस के मुठभेड़ कर सकती थी।

शातिर अजमल बिना मुठभेड़ पुलिस के हाथ लगने वाला नहीं था। इसलिए मेरठ एसटीएफ ने दिल्ली पुलिस का सहारा लिया और फिर दक्षिण दिल्ली के लाडो सराय में देर शाम को दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल और मेरठ एसटीएफ ने गोलीबारी के बाद आखिरकार शातिर अपराधी अजमल को गिरफ्तार कर ही लिया। अपराधी अजमल प्रदेश के मुजफ्फनगर का रहने वाला है। पुलिस ने कहा कि अजमल पर पहले से ही हत्या समेत कई अन्य नौ मामले थे और उस पर 25,000 रुपये का इनाम भी घोषित था। पुलिस और आरोपी अलजमल के बीच चार-चार राउंड फायरिंग हुई।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, "उसे लाडो सराय एमजी रोड ट्रेफिक लाइट के पास घेर लिया गया था और सरेंडर करने के लिए कहा गया। लेकिन उसने पुलिस पर गोली चला दी। वहीं बचाव में पुलिस ने भी गोली चलाई जो कि उसे दाहिने पैर में लगी। उसे गोली लगने के बाद सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया है।" गिरफ्तारी से बचने के लिए बीते चार महीने से अजमल महरौली में एक किराये के मकान में रहता था। जिस मकान में वह रह रहा था उस मकान के मकान मालिक से भी पूछताछ की जा रही है।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned