लव जिहाद और धर्मातरण: गले में रूद्राक्ष की माला, हाथ में कलावा पहन घूमते थे गिरोह के सदस्य

महिला को फंसाकर उसके साथ दुष्कर्म कर बनाया धर्मांतरण का दबाव। महिला की शिकायत पर थाना पुलिस ने आरोपी को पकड़ा। पूछताछ ने आरोपी ने बताया गिरोह का पूरा राज,सुनकर सन्न रह गई थाना पुलिस।

By: Rahul Chauhan

Published: 22 Jun 2021, 02:36 PM IST

मेरठ। थाना कंकरखेडा पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का खुलासा किया है जो लव जिहाद में युवतियों को फंसाकर फिर उनका धर्मातरण कराया करते थे। गिरोह के सदस्य हाथ में कलावा और गले में रूद्राक्ष की माला पहनकर आपरेशन लव जिहाद को अंजाम देते थे। ऐसे ही एक मामला सामने आया तो पूरे गिरोह का पर्दाफाश हुआ। युवक नसीमुद्दीन ने नाम बदलकर एक महिला से शारीरिक संबंध बनाए। इसके बाद उससे ढाई लाख रुपये की ठगी भी कर ली। इसके बाद महिला पर मतांतरण का दबाव बना रहा था। पीडि़ता की तहरीर पर कंकरखेड़ा पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपित नसीमुद्दीन को गिरफ्तार किया है। नसीमुद्दीन से पूछताछ में पूरे गिरोह का खुलासा हो गया।

यह भी पढ़ें: पति संग घूमने निकलीं बैटमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल, बांके बिहारी के दर्शन करने पहुंचीं वृंदावन

जानकारी के मुताबिक कंकरखेड़ा थानाक्षेत्र के गांव जिझोखर निवासी लाला उर्फ नसीमुद्दीन गले में रुद्राक्ष की माला और हाथ में कलावा बांधकर पाश कालोनियों, कालेज, इंस्टीट्यूट आदि के इर्द-गिर्द घूमता था। वह और उसके दोस्त नाम बदलकर महिलाओंं-युवतियों से दोस्ती करते हैं। नसीमु्द्दीन अपना नाम लाला बताता था। आरोप है कि करीब ढाई वर्ष पूर्व नसीमुद्दीन ने नौकरी लगवाने का झांसा देकर कंकरखेड़ा क्षेत्र निवासी एक कर्मचारी की पत्नी से शारीरिक संबंध बनाए। ढाई लाख रुपये भी ठग लिए। महिला को असलियत पता चली तो उसने नसीमुद्दीन को कार्रवाई की चेतावनी दी। इस पर नसीमुद्दीन ने महिला के अश्लील फोटो और वीडियो दिखाते हुए उस पर मतांतरण का दबाव बनाया। ऐसा न करने पर उसके पुत्र को गोली मारने की धमकी दी।

यह भी पढ़ें: अयोध्या भूमि विवाद- ट्रस्ट पर आरोपों से संत व्यथित, कहा- भगवान राम अबोध बालक, जन्मभूमि से धोखाधड़ी की हो जांच

पुलिस ने बताया कि लाला उर्फ नसीमद्दीन के गिरोह में शामिल संप्रदाय विशेष के युवक गले में रुद्राक्ष की माला और हाथ में कलावा बांधते हैं। छात्राओं और नौकरीपेशा युवती -महिलाओं को ये अपना निशाना बनाते हैं। लव जिहाद कर युवतियों पर धर्मातरण का दबाव बनाते हैं और ठगी भी करते हैं। एसओ कंकरखेड़ा तपेश्वर सागर ने कहा कि गिरोह के बाकी सदस्यों की तलाश की जा रही है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned