BJP विधायक के भतीजे को दबंगई दिखाना पड़ा भारी, लॉकडाउन में डेयरी खोली तो पुलिस ने खिलाई हवालात हवा

Highlights
- विधायक के भतीजे ने दिखाई सीओ और एसओ को सत्ता की हनक

- बोला- खूब दूध पिलाया और रसगुल्ले खिलाए तो क्यों पकड़ा

- मेरठ के नौचंदीथाने में जमकर हुआ हंगामा

By: lokesh verma

Published: 24 Aug 2020, 11:03 AM IST

मेरठ. जिले में कंप्लीट लॉकडाउन के दौरान डेयरी खोलकर बैठना भाजपा विधायक के भतीजे को भारी पड़ गया। क्षेत्र में निरीक्षण के लिए निकले सीओ भाजपा विधायक के भतीजे को जीप में बैठाकर ले गए। इसके बाद भाजपा विधायक के भतीजे को हवालात में ले जाकर बंद कर दिया गया। थाने में हंगामे के बाद पुलिस ने कैंट विधायक के भतीजे को लॉकडाउन के उल्लंघन का नोटिस तामील कराकर छोड़ दिया।

यह भी पढ़ें- परिवहन मंत्री के बिगड़े बाेल, भरी पंचायत में मंत्रियों के पद काे लेकर कर दी टिप्पणी, देखें वीडियो

दरअसल, घटना नौचंदी थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर सेंट्रल मार्केट की है। बताया जाता है कि सीओ सिविल लाइन संजीव देशवाल को कैलाश डेयरी में डेयरी की आड़ में अन्य घरेलू सामान बेचे जाने की सूचना मिली थी, जिसके बाद सीओ ने नौचंदी थाना प्रभारी आशुतोष कुमार के साथ डेयरी पर छापा मारा। इसी दौरान भाजपा विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल के भतीजे जितेंद्र अग्रवाल उर्फ अट्टू पुलिस से उलझ गए, जिसके बाद पुलिस अट्टू को उठाकर थाने ले आई। घटना के बाद क्षेत्रीय व्यापारियों ने थाने में हंगामा कर दिया। थाना प्रभारी नौचंदी आशुतोष कुमार ने बताया कि कैंट विधायक के भतीजे को लॉकडाउन के उल्लंघन का नोटिस तामील कराकर थाने से छोड़ दिया गया है।

उधर, इस मामले में कैंट विधायक के भतीजे ने भी सर्किल के सीओ से लेकर थाना पुलिस तक पर गंभीर आरोप लगाए हैं। विधायक के भतीजे का कहना था कि उसने थाना पुलिस और सीओ कार्यालय के कर्मचारियेां को खूब दूध पिलाया, लस्सी पिलाई और रसगुल्ले खिलाए हैंं। उसका तो कभी पैसा नहीं मांगा। फिर पुलिस पकड़ क्यों रही है। इस बात को लेकर थाने में काफी देर तक हंगामा होता रहा। अंत में हवालात से भाजपा विधायक के भतीेजे को जमानत पर छोड़ दिया गया।

यह भी पढ़ें- वेट लैंड में वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर से बदमाशों ने लाखों का कैमरा लूटा, कार कैमरे में कैद हुई वारदात

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned