अवैध शराब से हुई मौत पर गरमाई सियासत

  • पीड़ितों से मिलने पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष
  • कांग्रेसियाें ने कहा विस में उठाएंगे मामला
  • बोले अवैध शराब माफियाओं को भाजपा नेताओं का संरक्षण

By: shivmani tyagi

Updated: 19 Sep 2020, 06:59 PM IST

Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

मेरठ ( Meerut ) मेरठ और बागपत में अवैध शराब के कारण हुई छह लोगों की मौत के बाद प्रदेश की सियासत गरमा गई है। सपा के बाद अब कांग्रेस ने भी मोर्चा खोल दिया। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष अजय कुमार सिंह लल्लू गांव चमरावल पहुंचे और पीड़ित परिवार के लोगों से मुलाकात की। उन्होंने पीड़ित परिवार का हालचाल जानकर उनको हर संभव सहायता का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़ें: चार साल पहले जेल से फरार हुआ आजीवन कारावास का कैदी ऐसे चढ़ा पुलिस के हत्थे, देखें वीडियो

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने पीड़ितों को बंद पैकेट में धनराशि देकर मदद की। अध्यक्ष लल्लू ने कहा कि शराब से हुई मौतों का मुद्दे को वे विधानसभा में भी उठाएंगे और पीड़ितों को न्‍याय दिलाया जाएगा। इस बीच पीड़ित परिवारों ने अवैध शराब की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की। प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष ने कहा कि प्रदेश में जहरीली शराब से 110 लोगों की मौत हो चुकी हैं । छोटे शराब कारोबारी को पुलिस पकड़ती है, लेकिन बड़े माफियाओं को हाथ नहीं लगाती। उन्‍होंने कहा कि बागपत में प्रशासन इस मामले में दबाने में लगा हुआ है।


भाजपा सरकार पर लगाया शराब माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप

अजय कुमार लल्लू ने भाजपा सरकार पर शराब माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार नहीं चाहती कि पीड़ित परिवार से कोई मिलकर उनका हाल जाने। उन्होंने कहा कि सरकार ने इस मामले में अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं की है, जबकि सरकार को इस मामले में पूरी तरह से कठोर होकर कार्रवाई करनी थी। आराेप लगाया कि, अवैध शराब का कारोबार भाजपा राज में चरम पर है न तो सरकार और न प्रशासन इनको रोकने के प्रति गंभीर नहीं है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned