Meerut: सीएम के दौरे को लेकर तैयारी हुई तेज, इस दिन महाभारत की धरती पर करेंगे पौधारोपण

Highlights:

-वन महोत्सव में भाग लेंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ

-अधिकारियों ने किया हस्तिनापुर कैंप का दौरा

-जल्द जारी होगा विस्तृत प्रोग्राम

By: Rahul Chauhan

Updated: 01 Jul 2020, 10:13 AM IST

मेरठ। सीएम योगी आदित्यनाथ के दौरे को लेकर अधिकारियों ने अपनी तैयारियां तेज कर दी है। महाभारत की धरती हस्तिनापुर में प्रदेश के मुख्यमंत्री का दौरा फाइनल हो गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पांच जुलाई को हस्तिनापुर आएंगे। पौधारोपण कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। हस्तिनापुर के कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री किसी कोविड अस्पताल का निरीक्षण करेंगे। एक-दो दिनों में मुख्यमंत्री का विस्तृत कार्यक्रम जारी हो जाएगा।

यह भी पढ़ें : भारत सरकार ने Tiktok समेत चीन के 59 Apps किए बैन, जानिए महिलाओं और बच्चों ने क्या कहा

मुख्यमंत्री के हस्तिनापुर दौरे का कार्यक्रम फाइनल होने के बाद डीएम अनिल ढींगरा, एसएसपी अजय साहनी, सीडीओ इशा दुहन और वन विभाग की टीम ने हस्तिनापुर का दौरा किया। हस्तिनापुर में कार्यक्रम स्थल आदि का निरीक्षण किया गया। पीडब्लूडी को हैलीपैड की तैयारी करने को कहा गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कार्यक्रम फाइनल होने के बाद मंगलवार को प्रशासन, पुलिस के अधिकारियों के साथ ही मुख्य वन संरक्षक समेत अन्य विभाग के जनपद स्तरीय अधिकारियो ने राजकीय पशुधन प्रक्षेत्र पर पहुचंकर मौके की स्थिति का जायजा लिया ।

वन महोत्सव सप्ताह के तहत पांच जुलाई को पूरे प्रदेश मे वृहद स्तर पर पौधरोपण किया जाना है। वन्य जीव विहार के हस्तिनापुर रेंज में भी तीन लाख 55 हजार 506 पौधो का रोपण किया जाना है। जिसमें विभिन्न प्रजातियों के पौधे रोपित किए जाएंगे। मुख्यमंत्री हस्तिनापुर में पौधारोपण का शुभारंभ करेंगे। वन विभाग द्वारा राजकीय पशुधन प्रक्षेत्र की भूमि को पौधरोपण के लिए चयनित किया है।

यह भी पढ़ें: सिंचाई विभाग के अधिकारी भी आए कोरोना की चपेट में, 358 पहुंची मरीजों की संख्या

मंगलवार को डीएम द्वारा मालीपुर मार्ग पर स्थित गौशाला की ओर जाने वाले मार्ग के समीप स्थान को पौधरोपण के लिए चिन्हित किया। इससे पूर्व पौधरोपण के लिए चेतावाला गांव के समीप प्रक्षेत्र की भूमि को चिन्हित किया गया था। अब सीएम को दौरे को लेकर नए स्थान को चयनित किया गया हैं। जिससे प्रक्षेत्र की 24 हेक्टेअर भूमि पर 3 लाख 62 हजार 106 पौधों का रोपण किया जाएगा। अब वन विभाग के लक्ष्य यमें 6600 पौधों की बढोत्तरी हो गई है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned