BIG NEWS: दो सिपाहियों की हत्या के बाद योगी सरकार के आदेश पर पुलिस विभाग में होगा बड़ा बदलाव

BIG NEWS: दो सिपाहियों की हत्या के बाद योगी सरकार के आदेश पर पुलिस विभाग में होगा बड़ा बदलाव

lokesh verma | Updated: 19 Jul 2019, 01:30:33 PM (IST) Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

खबर के मुख्य बिंदु-

  • मुजफ्फरनगर और संभल में हुई घटनाओं के बाद पुलिस कड़े किए सुरक्षा बंदोबस्त
  • पेशी पर जाने वाले वाहनों को किया जाएगा जीपीएस से लैस
  • ब्रिटिशकालीन राइफल के स्थान पर पुलिसकर्मियों को दी जाएंगी इंसास

मेरठ. संभल में पेशी के बाद तीन बंदियों द्वारा दो सिपाहियों की हत्या की घटना को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश यूपी पुलिस बड़ा कदम उठाने जा रही है। संभल जैसी घटना भविष्य में न दोहराई जाए इसके लिए पुलिस पेशी पर लाने और ले जाने वाले वाहनों को जीपीएस से लैस करने जा रही है, ताकि बंदी वाहनों पर नजर बनी रहे। पुलिस जीपीएस की मदद से बंदियों के साथ जाने वाले पुलिसकर्मियों पर हर घंटे लोकेशन चेक करती रहेगी। इसके साथ ही पेशी पर जाने वाले पुलिसकर्मियों को ब्रिटिशकालीन राइफल के स्थान पर इंसास दी जाएंगी।

बता दें कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाल ही में पेशी के दौरान बंदियों को छुड़ाने और पुलिसकर्मियों की हत्या की दो घटनाएं हो चुकी हैं। पहली घटना मुजफ्फरनगर में हुई थी, जिसमें कुछ बदमाश एक दरोगा की हत्या कर कुख्यात रोहित उर्फ सांडू को छुड़ा ले गए थे। वहीं ताजा घटना बुधवार शाम को संभल में हुई, जहां पेश के बंदियों को जेल ले रही वैन में सवार तीन बंदियों ने दो सिपाहियों की गोली मारकर हत्या कर दी है। इस दोनों बड़ी घटनाओं को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से यूपी पुलिस को सख्ती बरतने के आदेश जारी किए गए हैं। यही वजह है कि मेरठ के एसएसपी अजय साहनी ने पुलिस लाइन से पेशी जाने वाले सभी वाहनों को जीपीएस से लैस करने के निर्देश जारी किए हैं।

यह भी पढ़ें- सिपाहियों के हत्यारों की सूचना देने वाले को मिलेगा इनाम, पुलिस ने जारी किये पोस्टर

 

up police

वॉट्सएप से भी हर घंटे लोकेशन भेजेंगे पुलिसकर्मी

एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि वाहनों में जीपीएस लगाने की जिम्मेदारी एसपी ट्रैफिक संजीव कुमार को दी गई है। जीपीएस लगने के बाद सभी वाहनों की पूरी लोकेशन पुलिस के पास रहेगी। इसके साथ ही बंदियों के साथ जाने वाले पुलिसकर्मियों को वाट्सएप नंबर के जरिए कंट्रोल रूम से जोड़ा जाएगा, ताकि पुलिसकर्मी भी अपनी लाइव लोकेशन से प्रत्येक घंटे कंट्रोल रूम अपडेट देते रहें। उन्होंने बताया कि वाहनों में जीपीएस लगने के बाद बंदी गाड़ियां तक बदल देते है। यदि इसके बाद भी कोई लोकेशन पर नहीं मिला तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

यह भी पढ़ें- Video: दो सिपाहियों के शहीद होने के बाद एक्शन में Police, एनकाउंटर में 25 हजारी को गोली मारकर किया पस्त

up police

पेशी के दौरान अब इंसास से लैस होंगे पुलिसकर्मी

वहीं एसएसपी अजय साहनी ने एसपी क्राइम को आदेश जारी करते हुए कहा है कि सभी थानों से ब्रिटिशकालीन सभी राइफल मंगा ली जाएं। उनके स्थानों पर इंसास जारी की जाएं। उन्होंने बताया कि पेशी पर जाने वाले पुलिसकर्मी अब राइफल के स्थान पर इंसास लेकर ही जाएंगे। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही आपराधिक जगत से जुड़े रहे लोगों में से किसे-किसे गनर दिया गया है। इसकी जानकारी भी सीओ एलआइयू और आरआई से मांगी गई है। जल्द ही उनके गनर हटाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि गनर्स को भी आदेश जारी किए गए है कि वह जिसके साथ भी चल रहे हैं, उसकी संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखें।

यह भी पढ़ें- VIDEO: इतनी सी बात पर सिपाहियों ने एक्सप्रेस-वे पर युवक को जमकर पीटा

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned