Raksha Bandhan 2021: जेल में भाइयों को बांधनी है राखी तो करा लें आरटीपीसीआर रिपोर्ट

Raksha Bandhan 2021 मिठाई के साथ लेकर जानी होगी आरटीपीसीआर रिपोर्ट, बिना रिपोर्ट दिखाए बहनें जेल में बंद भाइयों को नहीं बांध सकेंगी राखी, जेल प्रशासन ने किए इंतजाम लेकिन शासन से गाइड लाइन का इंतजार

By: shivmani tyagi

Updated: 22 Aug 2021, 07:25 AM IST

मेरठ. ( Raksha Bandhan 2021 ) रक्षाबंधन पर बहनों काे इस बार भी भाईयों की कलाई पर राखी बांधने के लिए कोरोना गाइडलाइन का पालन करना हाेगा। जेल प्रशासन की ओर से सामूहिक रूप से त्योहार मनाने की जो व्यवस्था तैयार की गई है उसके तहत बहनों को बंदी भाई के पास जाकर तिलक करने का मौका ताे मिलेगा लेकिन प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। बहनों काे आरटीसीपीआर रिपाेर्ट दिखानी होगी।

कोरोना संक्रमण ( Raksha Bandhan 2021 ) के कारण जिला कारागार में मिलाई की प्रक्रिया करीब 18 महीने तक बंद है। हाल ही में शासन के निर्देश पर मिलाई की प्रक्रिया शुरू हुई, जिससे बहनों की भाई से मिलने की उम्मीद भी बढ़ गई। उम्मीद की जा रही थी कि शासन त्योहार को लेकर गाइड लाइन जारी करेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। इसके बाद जेल प्रशासन अपने स्तर से व्यवस्था तैयार करने में जुट गया है।

स्कैनिंग के लिए अतिरिक्त स्टाल बनाए गए
जेलर राजेंद्र सिंह ने बताया कि रक्षाबंधन के दिन करीब 1400 से 1600 बहनें जेल आती हैं। इसको देखते हुए त्योहार वाले दिन सुबह सात बजे से पर्ची बननी शुरू हो जाएगी। नियमानुसार जो भी महिला जेल पर आएंगी, उसे हर दशा में भाई से मिलने का अवसर दिया जाएगा, भले ही शाम क्यों न हो जाए। जेल के रास्ते पर पानी और धूप से बचने की भी व्यवस्था बनाई गई है। जेल अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि शासन स्तर से कोई अतिरिक्त गाइड लाइन नहीं आई है। ऐसे में मिलाई के लिए बनाए नियम ही यहां लागू होंगे। सुरक्षा के साथ-साथ साफ-सफाई, धूप से बचने के लिए और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

यह भी पढ़ें: Raksha Bandhan 2021: दो साल बाद बहनें भाइयों के साथ मना पाएंगी रक्षा बंधन, हो गई तैयारियां, सभी हैं उत्साहित

यह भी पढ़ें: Raksha Bandhan 2021: यहां भाईयों काे नहीं उनकी लाठी काे राखी बांधती हैं बहनें, जानिए क्या है 445 साल पुरानी परम्परा

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned