scriptRataul mango species of Baghpat got geo tag | भारत और पाकिस्तान आम की जिस प्रजाति पर जता रहे थे हक, उस रटौल को मिला जिओ टैग | Patrika News

भारत और पाकिस्तान आम की जिस प्रजाति पर जता रहे थे हक, उस रटौल को मिला जिओ टैग

Geo tag on Rataul Mango आम की एक प्रजाति है रटौल जो कि बागपत जिले में पैदा होती है। इस प्रजाति पर भारत और पाकिस्तान शुरू से ही अपना हक जताते रहे हैं। लेकिन अंत में इस पर भारत का कब्जा हुआ और अब बागपत के रटौल आम की प्रजाति केा जीओ टैग मिला है। अब ये आम की प्रजाति सात समुंदर पार अपना स्वाद महका रही है।

मेरठ

Published: May 12, 2022 02:24:01 pm

Geo tag on Rataul Mango रटौल आम और बागपत दोनों एक दूसरे के पूरक हैं। बागपत का नाम आते ही रटौल आम याद आता है और रटौल आम दिखते ही बागपत जिला जेहन में आता है। बता दें कि बागपत के इस बड़े गांव को आम के बागों के कारण आज विश्च में पहचान मिली है। रटौल आम का स्वाद और सुगंध देश ही नहीं बल्कि सात समुंदर पार विदेश तक हैं। विदेश में बागपत के रटौल आम की बहुत मांग है। अंग्रेज अमेरिकन इस रटौल आम के काफी मुरीद हैं। जियोग्राफिकल इंडिकेशंस यानी जीआइ टैग इस आम को मिला तो इसके नखरे और अधिक बढ़ गए हैं। बता दें कि रटौल आम की इस प्रजाति पर पाकिस्तान भी शुरू से दावेदारी करता आ रहा है। लेकिन जब आम की प्रजाति रटौल का पेटेंट हुआ और इसकी जीआई टैग मिली तो यह बात सबसे सामने आ गई कि आम की इस प्रजाति का जन्म बागपत के रटौल में ही हुआ है। इस बार आम के मौसम में रटौल आम जीआइ टैग के साथ पहली बार बाजार में दस्तक देगा। अमेरिका,के अलावा खाड़ी देशों में रटौल की एडवांस बुकिंग हो चुकी हैं।
भारत और पाकिस्तान आम की जिस प्रजाति पर जता रहे थे हक, उस रटौल को मिला जिओ टैग
भारत और पाकिस्तान आम की जिस प्रजाति पर जता रहे थे हक, उस रटौल को मिला जिओ टैग

रटौल का आम बागपत के रटौल गांव के अलावा पश्चिम उत्तर प्रदेश के और भी जिलों में पैदा होता है। बागपत में इस प्रजाति के आम के करीब 85 हेक्टेयर में बाग हैं। बता दें कि रटौल आम उस समय चर्चा में आया जब पाकिस्तानी राष्ट्रपति जनरल जिया उल हक ने देश की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को रटौल आम गिफ्ट में दिया था। इसके बाद रटौल गांव के किसान केंद्रीय परिवहन मंत्री चौधरी चांदराम के नेतृत्व में देश की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से मिले और उन्हें असली रटौल आम दिया।
यह भी पढ़े : Gold Silver Price Today : आज फिर चमका सोना चांदी बाजार,ये है मेरठ का सराफा भाव

प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को बताया कि असली रटौल आम यही है। इसके बाद इंदिरा गांधी ने पाक राष्ट्रपति जनरल जिया उल हक को रटौल आम गिफ्ट में भिजवाए। उसके बाद से ही इस आम को पेटेंट की जिद्दोजहद चल रही थी। रटौल आम का पेटेंट अक्टूबर-2021 को वाराणसी में हुआ। पेटेंट के बाद ही इसको जीआइ टैग मिला। बता दें कि जीआइ टैग मिलने के बाद किसी भी प्रोडक्ट की अंतरराष्ट्रीय बाजार में महत्व और कीमत बढ़ जाती है। इसी के साथ उसके निर्यात के उत्पाद की विशिष्टता बढ़ती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

पंजाब CM भगवंत मान ने स्वास्थ्य मंत्री को भ्रष्टाचार के आरोप में किया बर्खास्तकांग्रेस की Task Force-2024 और पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी का ऐलान, जानिए सोनिया गांधी ने किन को दिया मौकापाकिस्तान ने भेजी है विषकन्या: राजस्थान इंटेलिजेंस ने सेना को तस्वीरें भेज कर किया अलर्टकुतुब मीनार केसः साकेत कोर्ट में दोनों पक्षों की दलीलें पूरी, 9 जून को अदालत सुनाएगी फैसलाPooja Singhal Case: झारखंड की 6 और बिहार के मुजफ्फरपुर में ED की एक साथ छापेमारी, अहम सुराग मिलने की उम्मीदकर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया का विवादित बयान, 'मैं हिंदू हूं, चाहूं तो बीफ खा सकता हूं..'सबसे आगे मोदी, पीछे से बाइडेन सहित अन्य नेता, QUAD Summit से आई PM मोदी की ये तस्वीर वायरलआर्थिक तंगी और तेल की कमी से जूझ रहे पाकिस्तान ने ढूंढा अजीब तरीका, कर्मचारियों को ज्यादा छुट्टियां देने की तैयारी!
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.