पत्नी ने देह व्यापार से किया इंकार तो पति ने गला घोंटकर लेनी चाही जान

दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर देह व्यापार के दलदल में डालना चाहता था आरोपी
दोस्तों के साथ संबंध बनाने का देता था दबाव, पुलिस ने दो युवकों को लिया हिरासत में

By: shivmani tyagi

Published: 12 Jul 2021, 11:04 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. ससुराल वालों ने जब युवक के दहेज की मांग को मानने से मना कर दिया तो उसने पत्नी को देह व्यापार के दलदल में धकेलने की कोशिश किए जाने का मामला सामने आया है। आराेप है कि पत्नी ने जब देह व्यापार से मना कर दिया तो आरोपी ने गला दबाकर उसकी जान लेनी चाही। आरोपी पति के चंगुल से छूटकर पत्नी किसी तरह से अपने मायके पहुंची और वहां पर आपबीती बताई। मायके वाले जब बेटी की ससुराल पहुंचे तो वहां पर उनके साथ मारपीट की गई। मामला थाने पहुंचा तो पुलिस ने दोनों पक्षों को बुला लिया। अंत में जब कोई नतीजा नहीं निकला तो पुलिस ने दो युवकों को हिरासत में ले लिया।

यह भी पढ़ें: Tiger Attack : बिजली सी कौंधी और धम्म की आवाज के साथ टूट पड़े दो बाघ

( crime against women in up ) सिविल लाइन थाना क्षेत्र निवासी युवती की शादी कुछ समय पहले सदर बाजार थाना क्षेत्र निवासी युवक से हुई थी। आरोप है कि कुछ समय बाद से ही उसे दहेज के लिए परेशान किया जाने लगा था। मांग पूरी नहीं होने पर पिटाई की जाती थी। कई बार दोनों पक्षों की पंचायत हुई, तब भी नतीजा नहीं निकला। महिला का आरोप है कि पति उसे देह व्यापार करने के लिए कहता है। दोस्तों के साथ संबंध बनाने का दबाव डालता है। विरोध करने पर उसकी पिटाई की जाती है। आरोप है कि रात में पति ने गला घोंटकर मारने का प्रयास किया। किसी तरह भागकर उसने अपनी जान बचाई। जब वह ससुराल पहुंचे तो उनके साथ मारपीट की गई। आसपास के लोगों ने किसी तरह बीच-बचाव कराया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। पीडि़त पक्ष ने तहरीर दे दी है। दो युवकों को हिरासत में लिया गया है। थाना प्रभारी ने बताया कि तहरीर के आधार पर मामले की जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें: योगी सरकार का बड़ा फैसला : Tokyo Olympics में स्वर्ण पदक जीतने पर 6 करोड़ रुपये देगी सरकार

यह भी पढ़ें: दिल्ली के व्यापारी की गाजियाबाद में गाेली मारकर हत्या, हत्यारों का सुराग नहीं

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned