सपा ने मजबूत प्रत्याशियों की तलाश की तेज, इच्छुक लोग इस तारीख तक कर सकते हैं आवेदन

Highlights:

- वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव की तैयारियों में आई तेजी

- समाजवादी पार्टी सत्तारूढ भाजपा का विकल्प बनने की तैयारी में

- 26 जनवरी से बढ़ाकर 15 फरवरी कर दी आवेदन तिथि

By: Rahul Chauhan

Published: 30 Jan 2021, 03:38 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ। वर्ष 2022 की तैयारियों में जुटे दलों ने अपनी राजनैतिक सरगर्मियां तेज कर दी है। सत्तारूढ भाजपा के अलावा कांग्रेस,सपा और बसपा 2022 के चुनाव में लखनऊ की सत्ता काबिज करने के प्रयास में हैं। सभी पार्टियों को मजबूत और जिताऊ उम्मीदवार की तलाश है। इसी क्रम में समाजवादी पार्टी ने अपने टिकाऊ और जिताऊ उम्मीदवारों की तलाश तेज कर दी है। इस कड़ी में सपा ने उम्मीदवारों के लिए आवेदन की तिथि को अब बढाकर 15 फरवरी तक कर दिया है। पहले जहां उम्मीदवारों के लिए अंतिम तिथि 26 जनवरी थी वहीं इसको अब फरवरी तक के लिए बढा दिया गया है।

यह भी देखें: भाजपा विधायक नंद किशोर गुर्जर बोले ,‘‘देश से माफी मांगे राकेश टिकैत’’, देखे वीडियो

समाजवादी पार्टी ही नहीं, कांग्रेस और बसपा भी यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के लिए मजबूत प्रत्याशियों की तलाश में जुटी हुई हैं। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने विधानसभा चुनाव 2022 के लिए प्रत्याशियों के आवेदन की तारीख बढ़ा दी है। अब सपा के टिकट के इच्छुक लोग 15 फरवरी तक आवेदन कर सकते हैं। इससे मेरठ सहित पश्चिम के जिलों में उन सपाइयों को आवेदन का मौका मिल जाएगा जो अभी तक आवेदन नहीं कर सके थे
समाजवादी पार्टी ने इससे पहले प्रत्याशियों के आवेदन के लिए आखिरी तारीख 26 जनवरी रखी थी, लेकिन अब दावेदार 15 फरवरी तक आवेदन कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: मुरादाबाद में ट्रक और बस की जाेरदार टक्कर, दस यात्रियों की माैत 20 से अधिक घायल

समाजवादी पार्टी ने पिछले साल 19 अक्टूबर से विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों से आवेदन पत्र आमंत्रित किए थे। पार्टी अपने वर्तमान विधायकों के निर्वाचन क्षेत्रों से प्रत्याशियों के आवेदन नहीं लेगी। फिलहाल पार्टी का जोर ब्लॉक और बूथ स्तर तक संगठन को मजबूती देने पर है। पार्टी अध्यक्ष अखिलेश ने कार्यकर्ताओं और नेताओं को अभी से सघन जनसंपर्क करने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि वर्ष 2017 में भाजपा की आंधी के आगे अगर कोई पार्टी मजबूती से टिक सकी थी तो वह थी समाजवादी पार्टी। जो आज भी प्रदेश में विपक्ष की दमदार भूमिका में है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कह भी चुके हैं कि अगर इस बार सपा सत्ता में नहीं आई तो आगे फिर कभी नहीं आ पाएगी।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned