Lockdown: नमाज को लेकर शहर काजी का ऐलान, मजिस्दों को वीरान न छोड़ें, नमाज़ी से की यह भी खास अपील

Highlights
. मस्जिदों को वीरान करना अच्छी बात नहीं
. शहर काजी प्रोफेसर जैनुस्साजेद्दीन लोगों से की अपील
. पूरे 21 दिन घर में रहकर नमाज पढ़ने की अपील

By: virendra sharma

Updated: 27 Mar 2020, 02:36 PM IST

मेरठ। कोरोना वायरस का खौफ पूरी दुनिया में छाया हुआ है। कोहराम मचा रहे कोरोना की वजह से हजारों लोगों की जान जा चुकी है। यह धीरे—धीरे भारत में भी पैर—पसार रहा है। भारत में भी 12 से ज्यादा लोगों की जान चुकी है। 600 से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित है। इसी बीच शहर काजी प्रोफेसर जैनुस्साजेद्दीन ने जनपद की सभी मस्जिदों के उलमाओं से अपील की है कि मस्जिदों के बजाय लोग घरों में नमाज पढ़ें।

यह भी पढ़ें: Lockdown में फंसी महिला सिपाही इस तरह कर रही फर्ज पूरा, अब सभी कर रहे तारीफ

उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान और समाज में फैलने से रोकने के लिए एक जगह इक्टठा न हों, सुरक्षा को ध्यान में रखे। उन्होंने कहा कि यह एक दूसरे से फैलता है। वायरस को रोकने के लिए 21 दिन तक लॉकडाउन का पाल करें। उन्होंने मुस्लिम समाज के लोगों से अपील की है कि मस्जिदों में इक्टठा न हो और जुम्मे की नमाज घर में ही पढ़ने की अपील की है। शहर काजी ने कहा कि कुछ दिनों के लिए लोग मस्जिदों में इकट्ठा न हों, लेकिन बंद भी नहीं की जानी चाहिए। लॉकडाउन का पूरा पालन किया जाए। सभी अपने घरों में नमाज अदा करनी चाहिए।

पांचों वक्त की नामाज घरों में अदा करें। मस्जिदों को वीरान करना भी अच्छी बात नहीं है। इसलिए मस्जिदों में अजान दी जाए। अजान कम लोग अता कर सकते है। उन्होंने अपील की है कि सभी गरीब भाइयों की मदद करें। उन्होंने कहा कि मस्जिदों, मदरसों, दरगाहों आदि में भीड़ आने से रोका जाए। घरों में ही नमाज पढ़ें, ताकि संक्रमण न फैलने पाए।

यह भी पढ़ें: Corona को हराने के लिए घर में रहे कैद, आवश्यक सामान की डोर-टू-डोर सप्लाई हुई शुरू

Show More
virendra sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned