निर्जला एकादशी पर बन रहा सिद्धयोग, विष्णु भगवान पूरी करेंगे मनोकामना

Nirjala Ekadashi
इस एकादशी का व्रत सबसे महत्वपूर्ण, शाम 5:34 मिनट तक रहेगा शिव योग उसके बाद सिद्धयोग, विधि-विधान से पूजन कर दान की है परंपरा

By: shivmani tyagi

Updated: 21 Jun 2021, 04:27 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. निर्जला एकादशी ( Nirjala Ekadashi ) पूरे साल में आने वाली सभी एकादशियों में सबसे महत्वपूर्ण मानी गई है। इसमें निर्जल व्रत रखने की परंपरा है। यह व्रत ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को रखा जाता है। इस व्रत में एक बूंद जल भी ग्रहण नहीं किया जाता है।

यह भी पढ़ें: रेलवे ने शुरू की शताब्दी समेत 50 स्पेशल ट्रेनें, इन राज्यों को होगा फायदा

धर्मशास्त्रों में कहा गया है कि मनुष्य को अपने जीवन में निर्जला एकादशी का व्रत अवश्य करना चाहिए। इस व्रत में भी भगवान विष्णु का विधि-विधान से पूजन किया जाता है। इस बार निर्जला एकादशी के दिन दो शुभ योग बन रहे हैं। पहला योग शिव योग है जो कि 21 जून की शाम 5:34 मिनट तक रहेगा। उसके बाद दूसरा योग सिद्धयोग लग जाएगा। यानी एक ही दिन दो योगों के लगने से निर्जला एकादशी का महत्व और अधिक बढ़ जाता है।

यह भी पढ़ें: मुस्लिम बुद्धिजीवी बोले- NPR देशहित में, अल्पसंख्यक न करें इसका विरोध

ज्योतिषाचार्य पंडित अनिल शास्त्री के अनुसार, इस एकादशी को भीमसेन एकादशी, पांडव एकादशी और भीम एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। हर महीने में दो एकादशी होती हैं-एक कृष्ण पक्ष और दूसरी शुक्ल पक्ष में आती है। उत्तम संतान की इच्छा रखने वालों को शुक्ल पक्ष की एकादशी का उपवास एक साल तक करना चाहिए। इससे श्रीहरि अपने भक्तों से प्रसन्न होकर उन पर कृपा बनाए रखते हैं। कहा जाता है जो व्यक्ति साल की सभी एकादशी पर व्रत नहीं कर सकता,वो इस निर्जला एकादशी के दिन व्रत करके बाकी एकादशी का लाभ भी उठा सकता है।

ये है निर्जला एकादशी के शुभ मुहूर्त
एकादशी तिथि प्रारंभ-20 जून शाम 4:21 बजे से होगी और एकादशी तिथि समाप्‍त-21 जून दोपहर 1:31 बजे तक रहेगी। इसके पारण का समय-22 जून सुबह 5:13 बजे से 8:01 बजे तक रहेगा।

यह भी पढ़ें: मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में सिर्फ 13 फीसदी वैक्सीनेशन, कहीं घातक न बन जाए तीसरी लहर

यह भी पढ़ें: एक साल में गायब हो गये सुलतानपुर के सारे गधे, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी भी हैरान

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned