Somvati Amavasya 2019: अपनी राशि के अनुसार करेंगे ये काम तो मिलेगा मनोवांछित लाभ, देखें वीडियो

सोमवती अमवस्या है चार फरवरी को, दोपहर 12 बारह बजे तक करें ये पुण्य कार्य

 

By: sanjay sharma

Updated: 04 Feb 2019, 02:43 PM IST

मेरठ। सोमवती अमावस्या पर दान का विशेष महत्व है। लेकिन दान किस समय और राशि के अनुसार कैसे करें। इसके अभाव में किए गया दान व्यर्थ बताया गया है। आचार्य हबीब के अनुसार सोमवती अमावस्या के दिन सुबह प्रातः काल से दोपहर 12 बजे तक किया गया दान श्रेष्ठ माना गया है। वहीं अपनी राशि के अनुसार जातकों को क्या और कैसे करना चाहिए। जानिये यहां।

यह भी पढ़ेंः सोमवती अमावस्या को 110 साल बाद बन रहा ये दुर्लभ योग है पुण्य, इस दिन ये करेंगे तो मिलेंगे चमत्कारी लाभ

यह भी देखेंः VIDEO: मौसम ने दिखाया ऐसा सितम कि लोगों को दिन में याद आई रजाई

मेष:- मेष राशि के जातक अमावस्या के दिन घर में हवन करवाएं और शिव के 108 मंत्रों का जाप करें।

वृष:- वृष राशि के जातक अमावस्या के दिन किसी कुए में दूध डाल दे इससे उनको विशेष लाभ होगा।

मिथुन:- मिथुन राशि के जातक अमावस्या की रात पानी वाला एक नारियल लें और उसके पांच बराबर टुकड़े करके शिवजी को अर्पित करें।

कर्क:- अमावस्या की रात को कर्क राशि के जातक किसी मंदिर में जाकर अभिमंत्रित धागा लें और इसे पहन लें।

सिंह:- सिंह राशि के जातक अमावस्या के दिन किसी काले कुत्ते को तेल की चुपड़ी हुई रोटी खिलाएं। शीघ्र ही कष्टों के निवारण से मुक्ति मिलेगी।

कन्या:- कन्या राशि वाले अमावस्या की रात को एक नींबू अपने सर से सात बार उतारकर, चार बराबर भागों में काट कर किसी चैराहे पर रख दें। अप्रत्याशित लाभ मिलेगा।

तुला:- इस राशि के लोग अमावस्या के दिन किसी सरोवर के पास जाकर मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएं।

वृश्चिक:- वृश्चिक राशि के जातक अमावस्या की रात को बहते नदी के पानी में पांच लाल फूल और पांच जलते हुए दीए प्रवाहित करें इससे जीवन में सुख शांति मिलेगी।

धनु:- धनु राशि के जातक अमावस्या की रात को मंदिर में एक घी का दीया जला आएं।

मकर:- मकर राशि के जातक अमावस्या की रात को एक नींबू अपने सर से सात बार उतारे और उसको काटकर चौराहे पर रख दें। व्यवसाय में लाभ होगा।

कुंभ:- कुंभ राशि के जातक अमावस्या के दिन किसी काले कुत्ते को तेल की रोटी खिलाएं, कष्टों का निवारण होगा।

मीन:- अमावस्या की रात को मीन राशि के जातक किसी मंदिर में जाकर अभिमंत्रित धागा लेकर पहने।

Show More
sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned