सॉरी मम्मी अब दोबारा से ऐसी गलती नहीं करूंगा, मुझे माफ कर देना

  • पल्लवपुरम से लापता छात्र की लोकेशन मिली चंडीगढ़
  • घर से स्कूल के निकला छात्र तीन दिन से थी लापता
  • परिजनों ने फोन पर की बेटे से बात

By: shivmani tyagi

Published: 03 Dec 2020, 04:54 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. 'सॉरी मम्मी अब दोबारा से मैं ऐसी कोई गलती नहीं करूंगा, एक बार मुझे माफ कर देना'। मां से यह बात कहकर बेटा रो पड़ा। मां ने बेटे को समझाया और उसको लेने के लिए पुलिस के साथ रवाना हो गई।

यह भी पढ़ें: इस शहर के लोगों को मिलेगी इंटरनेशनल लेवल की सुविधाएं, मास्टर प्लान तैयार!

मामला मेरठ के ( meerut news ) थाना पल्लवपुरम क्षेत्र का है। जहां रुड़की रोड स्थित एक कालोनी निवासी छात्र बुधवार सुबह गंगानगर स्थित कॉलेज जाते हुए लापता हो गया था। पुलिस ने छात्र के मोबाइल नम्बर को सर्विलांस पर लगाया तो उसकी लोकेशन आज चंडीगढ़ में मिली है। पुलिस और परिजन छात्र को लेने चंडीगढ़ रवाना हो गए हैं।

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन के पक्ष में आई रालोद, कहा- किसानों की हर लड़ाई को पार्टी का समर्थन

पल्लवपुरम थानाध्यक्ष दिग्विजय नाथ शाही ने बताया कि रुड़की रोड स्थित हरीश चंद्र अपार्टमेंट निवासी सुनील शर्मा एक दवा कंपनी में एमआर हैं। सुनील शर्मा का 20 वर्षीय पुत्र वैभव शर्मा गंगानगर स्थित एक कॉलेज में छात्र है। बुधवार सुबह वैभव घर से कॉलेज जाने के लिए निकला था जिसके बाद वह ना तो कॉलेज पहुंचा और ना घर वापस आया। परिजनों ने बेटे के दोस्तों और अपने रिश्तेदारों में उसकी तलाश की लेकिन उसका कहीं कोई सुराग नहीं लगा। बाद में परिजनों ने जानकारी थाना पुलिस को दी। लापता वैभव अपना मोबाइल भी साथ लेकर गया था। पुलिस ने वैभव के नंबर को सर्विलांस पर लगा दिया। गुरुवार सुबह वैभव के मोबाइल की लोकेशन चंडीगढ़ की मिली। पुलिस ने वैभव के परिजनों को उसके चंडीगढ़ में होने की जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने वैभव के नंबर पर कॉल की तो उसने रिसीव कर लिया। पुलिस ने परिजनों की बात भी कराई। वैभव ने खुद को चंडीगढ़ में होने की जानकारी दी।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: दो टीचर निकले कोरोना पॉजिटिव, 3 दिन बंद रहेगा स्कूल

थानाध्यक्ष ने बताया कि फोन पर बातचीत के दौरान छात्र वैभव ने अपने माता-पिता से कहा कि सॉरी वह दोबारा गलती नहीं करेगा। वह कुछ बिना सोचे समझे घर से निकल आया था। इस बात का उसे बेहद अफसोस है। उसने कहा कि मम्मी-पापा मुझे माफ कर दो। मैंने आपके विश्वास काे ताेड़ा है। यह सुनकर छात्र और उसके माता-पिता रोने लगे। पुलिस ने परिजनों और छात्र को समझाया।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned