दिन में ही हो गई रात, आंधी से उखड़े पोल और पेड़, बारिश ने फसलों को पहुंचाया नुकसान

Highlights

  • मेरठ जनपद में करीब एक घंटे रही आंधी और बारिश
  • अभी अगले दो दिन भी मौसम में परिवर्तन की संभावना
  • आम, केले और मक्का की फसलों को पहुंचा नुकसान

 

By: sanjay sharma

Published: 10 May 2020, 01:00 PM IST

मेरठ। रविवार की सुबह साढ़े ग्यारह बजे जनपद के कई हिस्सों में आई तेज आंधी के कारण जगह-जगह पेड़ और बिजली के खंभे गिर गए। वहीं, सैकड़ों झोपडिय़ां व कर्कटनुमा घरों को तेज हवाओं से नुकसान पहुंचा। जिले मावना रोड पर पेड़ गिरने से एक अधेड़ सहित दो जख्मी हो गए। तेज आंधी व हल्की बारिश से गेहूं के साथ आम, केले व मक्का की फसलों को नुकसान पहुंचने की खबर है।

यह भी पढ़ेंः सैंपल लेकर लौट रही स्वास्थ्य विभाग की टीम को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, एसएसपी ने लिया सख्त एक्शन

किसानों ने बताया कि तेज आंधी से गेहूं की तैयार फसल खेतों में गिर गई। वहीं आम के मंजर व टिकोले झड़कर बर्बाद हो गए। खलिहानों में रखे गेहूं के बोझे भी भीगकर बर्बाद हो गए। आंधी-पानी से हुई क्षति से किसानों में मायूसी छा गई। तेज आंधी से सैकड़ों झोपडिय़ां उजड़ गईं। कई दुकानों के बोर्ड व फ्लैक्स खिलौने की तरह हवा में उड़ गए। तेज आंधी का कहर करीब एक घंटे तक जारी रहा। जिले में बिजली की आपूर्ति हुई ठप हो गई है। पीवीवीएनएल के अफसरों के अनुसार तेज आंधी के बाद ग्रिड से बिजली आपूर्ति बंद कर दी गई। तैंतीस हजार केवीए की सप्लाई लाइन में फॉल्ट लगने से लाइन ट्रिप कर गई।

यह भी पढ़ेंः सपा विधायक के फूफा की कोरोना से मौत, अब तक 13 ने तोड़ा दम, नए 21 मरीजों से आंकड़ा पहुंचा 230

बिजली आपूर्ति ठप हो जाने से पूरे जिले में अंधेरा पसर गया है। पेट्रोलिंग के बाद गड़बड़ी को दुरुस्त कर ही संबंधित इलाकों दोबारा आपूर्ति शुरू हो सकेगी। आंधी व कुछ इलाके में हुई हल्की बारिश से तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। उल्लेखनीय है कि जिले में तापमान बढ़ कर 38 डिग्री सेल्सियस हो गया था। अगले दो-तीन दिनों तक आंधी व ओलावृष्टि के आसार बने हुए है।

Show More
sanjay sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned