रात 12 बजे लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानें इस समय क्या करें और क्या न करें?

Kaushlendra Pathak

Publish: Feb, 15 2018 10:40:36 AM (IST) | Updated: Feb, 15 2018 10:41:57 AM (IST)

Meerut, Uttar Pradesh, India
रात 12 बजे लगेगा साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानें इस समय क्या करें और क्या न करें?

साल का पहला सूर्य ग्रहण रात 12 बजे लगेगा। खबर में जानिए इस दौरान क्या करें और क्या न करें।

मेरठ। साल का पहला सूर्य ग्रहण रात 12 बजे लगेगा। ग्रहण 15 फरवरी की रात 12.25 मिनट से लगेगा जो कि सुबह प्रातः 4.18 तक रहेगा। यह सूर्य ग्रहण दक्षिण जॉर्जिया, प्रशांत महासागर, चिली, ब्राजील और अंटार्टिका आदि देशो में दिखाई देगा। मेरठ के रहनेवाले पंडित विभोर इंदुसुत के मुताबिक, भारत में भी सभी राशियों पर इस ग्रहण का प्रभाव पड़ेगा। जहां एक तरफ कुछ राशियों के लिए यह ग्रहण अच्छा साबित होगा वहीं कुछ राशियों पर इसका नकारात्मक प्रभाव रहेगा। पंडित विभोर इंदुसुत की मानें तो ग्रहण काल के दौरान कई सावधानियां बरतनी चाहिए ताकि किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं हो।

यह भी पढ़ें- कल है साल का पहला सूर्य ग्रहण, इन राशि वालों की चमकेगी किस्मत

ग्रहण काल में क्या करें और क्या नहीं?

पंडित विभोर इंदुसूत के मुताबिक, शास्त्रों के अनुसार ग्रहणकाल के समय मूर्ति छूना, भोजन तथा नदी में स्नान करना वर्जित माना जाता है। सूतक काल के समय किसी भी शुभ कार्य की शुरुआत नहीं करनी चाहिए। भोजन ग्रहण करने और पकाने से दूर रहना अच्छा माना जाता है। देवी देवताओं और तुलसी आदि को स्पर्श नहीं करना चाहिए। सूतक के दौरान गर्भवती स्त्री का घर से बाहर निकलना और ग्रहण देखना वर्जित माना जाता है। ये शिशु की सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता, क्योंकि इससे उसके अंगों को नुकसान पहुंच सकता है।

इसके अलावा नाखून काटना, बाल कटवाना, निद्रा मैथुन आदि जैसी गतिविधियों से भी ग्रहण व सूतक काल के समय परहेज करना चाहिए। माना जाता है इस काल में स्त्री प्रसंग से बचना चाहिए अन्यथा आंखों से संबंधित बीमारियों के होने का खतरा बना रहता है। ग्रहण समाप्त होने के पश्चात् पुरे घर को गंगाजल से शुद्ध करना चाहिए और सूतक काल प्रारंभ होने से पूर्व दूध, जल, दही, अचार आदि खान-पान की सभी चीजों में कुशा या तुलसी के पत्ते दाल देने चाहिए। माना जाता है ग्रहण के दौरान खान-पान की सभी चीजें बेकार हो जाती है और वे खाने लायक नहीं रहती। ऐसा करने से आप ग्रहण समाप्त होने के बाद इन्हें पुनः खा सकते है।

यह भी पढ़ें- Surya Grahan 2018 आज रात से, इन राशियों पर पड़ेगा असर, करें ये उपाय

राशियों पर पड़ेगा असर

विभोर इंदुसूत ने बताया कि भारत में भी सभी राशियों पर इस ग्रहण का प्रभाव पड़ेगा। एक तरफ कुछ राशियों के लिए यह ग्रहण अच्छा साबित होगा, वहीं कुछ राशियों पर इसका नकारात्मक प्रभाव रहेगा। 13 फरवरी को सूर्य मकर राशि से कुंभ राशि में अपना स्थान बदला है। इसके बाद सूर्य ग्रहण लग रहा है। ऐसी दशा में सभी 12 राशियों पर सूर्य के इस गोचर का असर देखने को मिलेगा। वैसे तो यह ग्रहण 15 फरवरी को लग रहा है किन्तु भारतीय समय के अनुसार देखें को यह मध्यरात्रि से भोर तक रहेगा। इसके मुताबिक इस ग्रहण का असर 16 फरवरी के अनुसार पड़ेगा। ग्रहण के समय भगवान के दर्शनों को अशुभ माना जाता है इसीलिए इस दौरान भगवान के मंदिर के पट बंद कर दिए जाते हैं।

जानें कैसे पड़ता है सूर्यग्रहण

भौतिक विज्ञान के अनुसार पृथ्वी सूरज का उपग्रह है और उसके चक्कर लगाती है। जबकि, चंद्रमा पृथ्वी का उपग्रह है और वो पृथ्वी के चक्कर लगाता है। लेकिन, कई बार परिक्रमा के दौरान ऐसी स्थिति आ जाती है जब चंद्रमा सूर्य और पृथ्वी के मध्य आ जाता है। जिसके कारण पृथ्वी से देखने पर सूर्य ‘पूर्ण या आंशिक रूप’से ढक जाता है। इसी घटना को सूर्य ग्रहण कहा जाता है। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक चन्द्र ग्रहण हमेशा पूर्णिमा के दिन ही पड़ता है, जबकि सूर्य ग्रहण अमावस्या के दिन ही होता है।

यह भी पढ़ें- Surya Grahan 2018 : सूर्य ग्रहण के समय भूलकर भी न करें ये काम

1
Ad Block is Banned