पुलिस को रिश्वत देने के लिए पीड़ित ने डाली किडनी बेचने की पोस्ट तो आईजी ने तत्काल जारी किए ये आदेश

Highlights

- मेरठ के कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र का मामला

- लिखा थाना पुलिस को रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए रिश्वत देनी है

- आईजी मेरठ ने लिया संज्ञान, मुकदमा दर्ज करने के लिए आदेश

By: lokesh verma

Published: 02 Sep 2020, 11:43 AM IST

मेरठ. भ्रष्टाचार मुक्त समाज के दावे करने वाली भाजपा सरकार में यह दावे हवा हो रहे हैं। थानों में पीड़ितों से रिपोर्ट दर्ज करने के लिए रिश्वत मांगी जा रही है। बिना रिश्वत रिपोर्ट नहीं दर्ज हो रही है। पीड़ित पुलिस को रिश्वत देने के लिए अपनी किडनी तक बेचने की बात कही गई है। मामला कंकरखेड़ा थाना का है। जहां थाना पुलिस मारपीट के मामले में बिना रिश्वत लिए के मुकदमा दर्ज नहीं कर रही। पीड़ित ने ट्विटर पर अपनी किडनी बेचने की पोस्ट डालते हुए लिख दिया कि पुलिस को रिश्वत देनी है इसलिए किडनी बेच रहा हूं। इस पोस्ट के तुरंत बाद आईजी मेरठ ने इसको संज्ञान लिया। मामले में एसपी सिटी और सीओ दौराला को जांच के लिए कहा है। शिकायत सही पाए जाने पर मुकदमा दर्ज कराने का आदेश दिया गया है।

यह भी पढ़ें- थाने में हेड कांस्टेबल ने फांसी लगाकर किया सुसाइड, पुलिसकर्मियों में मचा हड़कंप

दरअसल, कंकरखेड़ा के जवाहरनगर निवासी संजय कुमार ने बताया कि 14 अगस्त को उनका बेटा निशांत अपने दोस्त विराट के साथ स्कूटी पर घर से निकला था। दोनों फाजलपुर में कंप्यूटर कोचिंग क्लास का पता करने जा रहे थे। बताया कि तेज विहार गेट के पास चार-पांच युवकों ने मिलकर उनके बेटे की स्कूटी रोक ली थी। आरोपी शराब के नशे में थे। उन्होंने बेटे निशांत और विराट के साथ मारपीट कर दी। इस मारपीट में उनके बेटे को चेहरे और आंख पर काफी चोट आई है। इस संबंध में थाना कंकरखेड़ा को तहरीर लिखकर भी दी थी। संजय कुमार का आरोप है कि थानेदार ने उन्हें भगा दिया और अभद्रता की। दूसरी बार भी शिकायत दी गई, लेकिन एक्शन नहीं हुआ। इसके बाद संजय ने ट्विटर एकाउंट पर अपना गुर्दा बेचने की पोस्ट मंगलवार को डाल दी। साथ ही लिख दिया कि कंकरखेड़ा पुलिस को मुकदमा दर्ज करने के लिए फीस देनी है, इसलिए गुर्दा बेच रहा हूं।

इस पोस्ट के कुछ ही मिनट बाद आईजी मेरठ के ट्विटर एकाउंट से घटना का संज्ञान लिया गया। मामले में कार्रवाई के लिए निर्देश दिया गया है। एसपी सिटी डाॅ. एएन सिंह और सीओ दौराला संजीव दीक्षित को इस प्रकरण में जांच के लिए कहा गया है। एसपी सिटी डाॅ. एएन सिंह ने बताया कि जांच के बाद मामला सही पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। यह भी देखा जाएगा कि आखिर रिपोर्ट क्यों नहीं दर्ज की गई। रिश्वत मांगने वाले पुलिसकर्मी के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें- नव विवाहिता का अपहरण कर ले गए हरियाणा, 20 दिन तक भट्टे पर बंधक बनाकर गैंगरेप

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned