ट्रैफ़िक जाम खत्म करने के लिए बना मास्टर प्लान, कई रास्तों पर लगाए गए डायवर्जन

Highlights

-शहर को जाम से मुक्त करने को बना ये मास्टर प्लान

-मेरठ को जाममुक्त करने के लिए ट्रैफिक विभाग चलाएगा बड़ा अभियान

-हर चौराहों का जाममुक्त करने का उठाया बीड़ा

By: Rahul Chauhan

Published: 23 Aug 2020, 11:50 AM IST

मेरठ। जाम से जूझ रहे मेरठ की सड़कों और चौराहों को अब जाममुक्त करने की कवायद शुरू कर दी गई है। इसके तहत अब मेरठ ट्रैफिक पुलिस पहले समझाएगी फिर चेतावनी देगी उसके बाद भी न माने तो वाहन सीज करने की कार्रवाई करेंगी। जाम से निपटने के लिए ट्रैफिक पुलिस ने मास्टर प्लान बनाया है। जिसके तहत जाम का कारण बनी ई-रिक्शा पर शिकंजा कसने की तैयारी शुरू कर दी गई है। मेरठ जिले में आए दिन लगने वाले जाम से निबटने के लिए ट्रैफिक पुलिस द्वारा मास्टर प्लान तैयार किया गया है। जिसके तहत जिले में जाम का बड़ा कारण बनी ई रिक्शाओं पर सबसे पहले कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए ट्रैफिक पुलिस ने सबसे पहले शहर के मुख्य हापुड़ अड्डा चौराहे को चिन्हित किया है।

एसपी ट्रैफिक जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने बताया की हापुड अड्डा चौराहे का जाम मुक्त करने के लिए चौराहे से 2 मीटर की दूरी तक की सड़क की एंट्री पर प्रतिबंध लगाया जा रहा है। इसी के साथ चौराहों को जाम से बचने के लिए कुछ वाहन चालकों को वैकल्पिक मार्ग से निकाला जाएगा। चौराहे पर खड़े होने वाले ई-रिक्शा को शुरुआती दौर पर समझाया जाएगा। जिसके बाद ना मानने वाले ई-रिक्शा चालकों को दूसरे चरण में चेतावनी दी जाएगी लेकिन यदि इसके बावजूद नहीं माने ई-रिक्शा को सीज किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि जाम का कारण सड़कों पर अतिक्रमण भी है। इस अतिक्रमण को भी हटवाया जाएगा। अतिक्रमण करने वालों को पहले चेतावनी दी जाएगी उसके बाद भी अगर नहीं हटाया तो पुलिस जबरन हटाने का काम करेगी। उनका उद्देश्य महानगर को जाम मुक्त कर देना है। इसके लिए वे प्रतिबद्ध हैं।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned