नक्सल हमले में शहीद दो जवानों को अंतिम विदाई देकर गार्ड ऑफ ऑनर की सलामी दी

माओवादी घटना में शहीद दो जवानों को गार्ड ऑफ ऑनर देकर दी अंतिम विदाई

By: चंदू निर्मलकर

Published: 22 May 2018, 10:36 AM IST

कांकेर/चारामा/लखनपुरी. दंतेवाड़ा के चोलनार और किरंदुल के बीच सडक़ निर्माण कार्य में सुरक्षा के लिए निकले जवानों के वाहन आईडी के चपेट में आने से सात जवान शहीद हो गए। जिसमें अघननगर वार्ड निवासी प्रधान आरक्षक रामकुमार यादव पिता शिवलाल यादव प्रधान आरक्षक भी शामिल था। घटना में शहीद हुए अघनगर वार्ड निवासी रामकुमार को पुलिस विभाग ने सोमवार को गार्ड आफ आर्नर दिया। इसके बाद शव यात्रा मुक्तिधाम के लिए निकली।

शहीद का शव देख पत्नी हुई बेहोश

शहीद की पत्नी अमृता, माता-पिता और भाई सहित पूरे रिस्तेदारों के आंखों से आंसू नहीं थम रहे थे। पति का शव देख पत्नी बेहोश हो गई। वहीं, पांच वर्षीय मासूम वंशिका यादव ने अपने पापा को फूलमाला से श्रद्धांजलि देते हुए बार-बार पूछ रही थी कि पापा कहां जा रहे है। अबोध बालक वैभव सभी को रोते देख स्वयं रोने लग रहा था। उसे यह पता नहीं था कि अब पापा नहीं मिलेंगे।

 

जिला प्रशासन के अधिकारी रहे शामिल

रविवार रात दो बजे उनका शव निवास स्थान पर पहुंच गया। दूसरे दिन सोमवार को सुबह पुलिस विभाग की टीम ने शोक शस्त्र सलामी दी, इसके बाद शव यात्रा निकाली गई। श्रद्धाजंलि देने वालों में क्षेत्र के विधायक शंकर धु्रवा, पालिका अध्यक्ष जितेन्द्र ठाकुर, जनपद सदस्य राजेश भास्कर, सरपंच तरेन्द्र भंडारी, पुलिस विभाग डीआईजी टीआर पैकरा, पुलिस अधीक्षक केएल धु्रव, एसडीओपी अमृत कुजूर, जिला पंचायत सीईओ ऋषा प्रकाश चौधरी, अपर कलक्टर आरआर ठाकुर, संयुक्त कलक्टर सीएल मारकण्डे, कोतवाली प्रभारी द्वारिका प्रसाद श्रीवास, पार्षद अजय पप्पू मोटवानी, जनपद सदस्य आशाराम नेताम, जागेश्वरी साहू, उत्तम यादव सहित जिला प्रशासन के अधिकारी सहित समाजजन शामिल थे।

सालिकराम को बड़े बेटे बलराम और छोटे तामेश्वर ने दी मुखाग्नि

माओवादी हमले में कांकेर जिले और चारामा ब्लॉक के ग्राम चिनौरी निवासी जवान सालिक राम सिन्हा भी शहीद हो गए, जिनका पार्थिव शरीर रविवार रात तक उनके गृहग्राम पहुंचा, जिसके बाद सोमवार की सुबह शहीद सालिक राम का राजकीय सम्मान के साथ अष्रुपूरित नेत्रों से अंतिम विदाई दी गई। पत्नी, बच्चों के साथ पूरा गांव रो पड़ा। अंतिम यात्रा के बाद अंतिम संस्कार शहीद जवान के बड़े बेटे बलराम व छोटे बेटे तामेश्वर ने मुखाग्नि दी।

शहीद जवान को सलामी दी

प्रशासनिक अधिकारियों, राजनीतिक हस्तियों के साथ सैकड़ों की संख्या में स्थानीय लोग शहीद जवान की अंतिम विदाई के क्षणों के गवाह बने। इस दौरान पुलिस अधिकारी व जवानों ने शहीद जवान को सलामी दी। शहीद जवान सालिक राम सिन्हा को सलामी एवं श्रद्धांजलि एडीशनल एसपी जयप्रकाश बढ़ई, क्राइम डीएसपी अभिषेक झा, टीआई बृजेश कुशवाहा, आरआई नीलकंठ वर्मा, एसआई रामनारायण ध्रुव, एसआई उत्तम तिवारी, एएसआई राजकुमार नेताम, तहसीलदार गीता रायस्त, नायब तहसीलदार एचएन खुटे व पुलिस स्टॉफ सहित विधायक मनोज मंडावी, जनपद अध्यक्ष उषा वट्टी, जनपद सदस्य पुरुषोत्तम गजेन्द्र, जनपद सदस्य विजय ठाकुर, भाजपा महामंत्री आलोक ठाकुर, रोहिदास साहू, मनोज जायसवाल आदि जनप्रतिनिधि व ग्रामवासियों ने दी।

विधायक कांकेर, शंकर धु्रवा का कहना है- बस्तर संभाग में माओवाद यथावत है, सरकार इसे खत्म करने में असफल साबित हो रही है। सरकार को ठोस कदम उठा कर माओवाद समाप्त करना चाहिए।

डीआईजी कांकेर, टीआर पैकरा का कहना है- दुखद घटना है कि जिले के दो जवान माओवादी घटना में शहीद हो गए हैं। विभाग द्वारा की जाने वाली पक्रिया विधिवत पूरी की जाएगी।

चंदू निर्मलकर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned