यूपी बोर्ड वालों के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी, नाम और जन्मतिथि संशोधन को लेकर बदल गए सभी नियम!

यूपी बोर्ड वालों के लिए बहुत बड़ी खुशखबरी, नाम और जन्मतिथि संशोधन को लेकर बदल गए सभी नियम!

Rahul Chauhan | Updated: 18 Sep 2019, 04:24:51 PM (IST) Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

Highlights:

-UP Board ने छात्रों नाम और जन्मतिथि में संशोधन को लेकर बड़ा बदलाव किया है

-जिससे यूपी बोर्ड से पढ़ने वाले लाखों छात्रों को बहुत बड़ी राहत मिली है (up board marksheet correction process in hindi)

-इस बदलाव को लेकर यूपी बोर्ड क्षेत्रीय कार्यालय मेरठ को भी नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है

मेरठ। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UP Board) ने छात्रों नाम और जन्मतिथि में संशोधन को लेकर बड़ा बदलाव किया है। जिससे यूपी बोर्ड से पढ़ने वाले लाखों छात्रों को बहुत बड़ी राहत मिली है। इस बदलाव को लेकर यूपी बोर्ड क्षेत्रीय कार्यालय मेरठ को भी नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। जिसके बाद से अब नए नियमों के अनुसार ही कार्य होंगे। (up board marksheet correction process in hindi)

यह भी पढ़ें : Driving Licence बनवाने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन

दरअसल, यूपी बोर्ड के अंतर्गत आने वाले हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के छात्रों के अंकपत्र में उनके नाम, माता-पिता का नाम व जन्मतिथि और वर्तनी त्रुटि के संशोधन को अब उन्हें क्षेत्रीय कार्यालयों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। इन संशोधन के लिए अब छात्रों की यूपी बोर्ड मदद करेगा। इसके लिए सचिव द्वारा 13 सितंबर को सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को सख्त निर्देश जारी किए गए हैं।

अब ऐसे होंगे संशोधन

यूपी बोर्ड क्षेत्रीय कार्यालय मेरठ के क्षेत्रीय बोर्ड सचिव राणा सहस्त्रांशु सुमन का कहना है कि प्राप्त नोटिफिकेशन में कहा गया है कि डीआईओएस अपने जिले के सभी राजकीय एडेड व वित्तविहीन स्कूल के प्रिंसिपलों को बुलाकर उनके संग एक बैठक करें और उन्हें कहा जाए कि यदि छात्र-छात्रा किसी तरह का संसशोधन या सुधार कराना चाहते हैं तो उसे वह अपने स्तर पर ही कर दें और अपनी संस्तुति के साथ उसे संबंधित क्षेत्रीय कार्यालय को प्रााथमिकता के आधार पर भेज दें।

यह भी पढ़ें : ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करना पड़ेगा भारी, बड़े चालान के बाद अब 'सरकार' ने तैयार किया दूसरा प्लान

प्रमाणपत्र मिलने की स्थिति में करना होगा ये काम

उन्होंने बताया कि अगर छात्र-छात्रा ने अपना प्रमाण पत्र हासिल कर लिया है और उसमें किसी तरह का संशोधन अपेक्षित है तो इस संबंध में स्कूल अपने परिसर में संबंधित क्षेत्रीय कार्यालय का नाम, कार्यालय का फोन नंबर, ई-मेल आईडी आदि नोटिस बोर्ड पर चस्पा कर दें। जिससे छात्रों के लिए आसानी हो सके और उनको जानकारी हो सके कि उन्हें किस क्षेत्रीय कार्यालय और किस अधिकारी से संपर्क कर संशोधन करना है।

गौरतलब है कि यूपी बोर्ड के प्रदेश में प्रयागराज, मेरठ, वाराणसी व बरेली में चार क्षेत्रीय कार्यालय हैं। 1986 के बाद से इन्हीं क्षेत्रीय कार्यालयों में छात्रों के प्रमाणपत्रों में संशोधन किया जाता है। 1986 के पहले सभी काम बोर्ड मुख्यालय में ही होते थे। वहीं पिछले साल ही गोरखपुर में भी क्षेत्रीय कार्यालय बनाया गया है। जिसमें सिर्फ 2018 से ही रिकॉर्ड उपलब्ध हैं। अब इस नोटिफिकेशन के बाद छात्रों को संशोधन के लिए क्षेेत्रीय कार्यालय के भी चक्कर नहीं काटने पडेंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned