Alert: उत्तर प्रदेश में इस तारीख को आएगी भारी बारिश, शासन ने जारी किया अलर्ट

Alert: उत्तर प्रदेश में इस तारीख को आएगी भारी बारिश, शासन ने जारी किया अलर्ट

Sanjay Kumar Sharma | Publish: Sep, 06 2018 07:28:40 PM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केन्द्र, भारत मौसम विज्ञान विभाग व पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने भी जारी किया अलर्ट

मेरठ। प्रदेश के कई हिस्से बाढ़ से कराह रहे हैं। पश्चिम उप्र में मेरठ, बिजनौर, सहारनपुर और अन्य जिलों में बाढ़ के हालात बने हुए हैं। इसी बीच मौसम विभाग ने फिर से अलर्ट जारी किया है। जिसके अनुसार अब आने वाले 10 सितंबर को पश्चिम उप्र समेत पूरे प्रदेश में भारी बारिश की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग ने इसके लिए पूर्वानुमान जारी किया है। लखऊ से जारी मौसम विभाग के इस अलर्ट को प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों और मौसम विभाग को भेजा गया है। जिसमें बताया गया है कि वे आने वाली 10 सितंबर को अपने-अपने जिलों में मूसलाधार बारिश के मद्देनजर सावधानी बरतें और बचाव के इंतजाम करें।

यह भी पढ़ेंः वेस्ट यूपी-एनसीआर में इतने घंटे में भारी बारिश बिगाड़ सकती है हाल, मौसम वैज्ञानिकों ने किया अलर्ट

पूरे प्रदेश में भारी बारिश की संभावना

मौसम विभाग ने पूरे प्रदेश में भारी बारिश की संभावना जताई है। राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केन्द्र, भारत मौसम विज्ञान विभाग व पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने भी अलर्ट जारी किया है। जिसमें उप्र समेत देश के अन्य कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। मौसम विभाग द्वारा भारी बारिश की चेतावनी के कारण उत्तर प्रदेश राहत आयुक्त संजय कुमार ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को अलर्ट जारी किया है।

यह भी देखेंः बारिश से दिल्ली NCR के कई इलाकों में सड़कों पर उफनती नदी जैसे हालात और घरों में घुसा पानी

बंगाल की खाड़ी में बन रहा निम्न दबाव का क्षेत्र

मेरठ कालेज के भूगोल विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष डा. कंचन सिंह के अनुसार इस समय बंगाल की खाड़ी में बना निम्न दबाव का क्षेत्र उत्तर पश्चिमी दिशा में आगे बढ़ते हुए बीती रात गहरे निम्न दबाव का क्षेत्र बना और जो आज सुबह और सशक्त होते हुए डिप्रेशन में तब्दील हो गया है। इसके चलते ओड़ीशा और आसपास के भागों में पहले से ही भीषण बारिश हो रही है। यह धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है। जिस कारण पूर्वी और मध्य भारत के ज्यादातर भागों में बादलों का प्रभाव बढ़ गया है और कई जगहों पर गर्जना के साथ बिजली गिरने की घटनाएं देखने को मिल रही हैं। मौसम का यह मिजाज अगले चार दिन तक बना रहने की संभावना है। डिप्रेशन क्रमशः उत्तर-पश्चिमी दिशा में आगे बढ़ेगा। साथ ही इसके प्रभाव से मॉनसून की अक्षीय रेखा का पूर्वी सिरा दक्षिण में आेडीशा के पास आ गया है।

अगले 48 घंटे में बदलना शुरू हाेगा मौसम

डा. कंचन सिंह के अनुसार के अनुसार डिप्रेशन के प्रभाव से ओडीशा के अलावा सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले राज्य छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश हैं। इसके बाद यह डिप्रेशन 48 घंटे के भीतर झारखंड, बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और राजस्थान होते हुए पश्चिम उप्र पहुंच जाएगा। फिलहाल अगले 24 से 48 घंटों के दौरान यानी आठ सितंबर तक छत्तीसगढ़ और पूर्वी मध्य प्रदेश के भागों में भीषण वर्षा हो सकती है। अगले 24 घंटों में उप्र के भी पूर्वी भागों में मौसम बदलेगा और धीरे-धीरे बारिश जोर पकड़ेगी। उन्होंने बताया कि इस सिस्टम की रफ्तार और क्षमता को देखते हुए यह आंकलन है कि यह चार दिन में कमजोर हो जाएगा और धीरे-धीरे निष्प्रभावी हो जाएगा, लेकिन उससे पहले यह जबरदस्त बारिश करेगा।

Ad Block is Banned