कांस्टेबल के पुत्र ने छात्रा से कहा- मेरा बाप पुलिस में है, मेरा कोर्इ कुछ नहीं बिगाड़ सकता, तुमको मेरी बात माननी ही होगी आैर फिर...

कांस्टेबल पुत्र और दोस्त कालेज की छात्रा के साथ करते थे हरकतें

 

By: sanjay sharma

Published: 06 Oct 2018, 04:56 PM IST

मेरठ। 'मेरा बाप पुलिस में है। सड़क पर जो पुलिस अंकल दिखाई दे रहे हैं सब मुझे जानते हैं कोई मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकता। तुमको मेरी बात माननी ही होगी।' कुछ ऐसे जुमले छोड़ा करता था कांस्टेबल पुत्र अपने दोस्त के साथ मिलकर एक छात्रा के ऊपर। कांस्टेबल पुत्र, दोस्त संग मिलकर पिछले कई दिनों से मेरठ कालेज की छात्रा से छेड़छाड़ कर रहा था। छात्रा के परिजनों ने सुबह के समय उसे रंगे हाथ दबोच लिया। छात्रा के परिजनों ने दोनों आरोपियों की पिटाई करते हुए उन्हें पुलिस को सौंप दिया। आरोप है कि आरोपियों में से एक के पिता के पुलिस में होने के कारण पुलिस दोपहर तक पीड़ित पक्ष पर समझौते का दबाव बनाती रही।

यह भी पढ़ेंः योगी सरकार के पुलिस मुखिया ने चार महीने बाद ही पलट दिया अपना आदेश, अब प्रदेश में होगी ये नर्इ व्यवस्था

छात्रावास में रहकर कर रही तैयारी

मूल रूप से बागपत जनपद के निवासी व्यक्ति मेरठ आईटीआई में कार्यरत हैं। उनकी पुत्री मेरठ कालेज में बीएससी बायो की द्वितीय वर्ष की छात्रा है और मेरठ कालेज परिसर स्थित महिला छात्रावास में रहती है। इसी के साथ छात्रा 'नीट' की तैयारी कर रही है। छात्रा का आरोप है कि पिछले एक सप्ताह से आरजी डिग्री कालेज के सामने कोचिंग जाते समय दो युवक उसके साथ सड़क पर छेड़खानी कर रहे थे। युवक कभी उसका हाथ पकड़ने का प्रयास करते तो कभी उस पर दोस्ती करने का दबाव बनाते थे। शुक्रवार को शोहदों की हरकत से परेशान छात्रा ने अपने पिता को काल करके घटना की जानकारी दी। जिसके बाद छात्रा के पिता अन्य कुछ लोगों के साथ छात्रा की कोचिंग के निकट पहुंचे और छात्रा से छेड़छाड़ कर रहे दोनों आरोपियों को रंगे हाथ दबोच लिया।

यह भी पढ़ेंः ये लेडी डाॅन लोगों को लूटती थी एेसे, पुलिस भी सुनकर रह गर्इ दंग

दोनों आरोपियों की हुर्इ जमकर पिटार्इ

मामला पता चलने पर सड़क चलते लोगों ने भी शोहदों की जमकर धुनाई की। आरोपियों को पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया। छात्रा के परिजनो ने मुख्य आरोपी शुभम और उसके दोस्त निखिल के खिलाफ तहरीर दी है। वहीं, जानकारी के बाद साहिबाबाद थाने में तैनात निखिल के कांस्टेबल पिता भी सिविल लाइन थाने पहुंच गए। थाने में दोनों पक्षों के बीच जमकर बहस हुई। छात्रा के परिजनों का आरोप है कि सिपाही के दबाव में थाना पुलिस दोनों पक्षों पर समझौते का दबाव बना रही है।

Show More
sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned