यूपी चुनाव 2017 में धमाल मचा सकती हैं ये जोड़िया

यूपी चुनाव 2017 में धमाल मचा सकती हैं ये जोड़िया
up election 2017,

वेस्ट यूपी में कई ऐसी जोड़ियां है जोकि चुनाव में कड़ी टक्कर दे सकती हैं

सौरभ शर्मा, नोएडा: यूपी विधानसभा चुनाव 2017 बिल्कुल भी आसान नहीं होने जा रहा है। सभी पॉलिटिकल पार्टियों के लिए यूपी चुनाव अस्तित्व बचाने का चुनाव बन गया है। जहां एक ओर बसपा के लिए ये चुनाव अपनी खोई हुई साख बचाने के लिए है। वहीं समाजवादी पार्टी के लिए चुनाव एक बार फिर अपना दमखम साबित करने के की चुनौती है। कांग्रेस इस चुनाव के सहारे एक बार फिर से प्रदेश में जिंदा होने की कोशिश में जुटी हुई है। वहीं भाजपा के लिए ये चुनाव 2014 के चुनावों की सफलता दोहराने के लिए मैदान हैं। इसलिए सभी पार्टियों की ओर से ऐसे उम्मीदवारों को मैदान में उतारा जा रहा है जो विपक्ष को हारकर जीत सकें। वहीं कुछ पार्टी ने ऐसे उम्मीदवारों को भी मैदान में उतारा है जो चुनावों में जोड़ियों के तौर पर दिखाई देंगे। जिनका चुनाव में डंका बजेगा। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर वेस्ट यूपी में वो कौन सी जोड़ियां हैं जो चुनावों में सभी को हैरान कर सकती हैं।

इस जोड़ी का कोई जवाब नहीं

रामपुर से आजम खां तो चुनाव लड़ेंगे ही। वहीं इस बार उनके बेटे अब्दुल्ला भी चुनावी मैदान में हैं। अब्दुल्ला स्वार सीट से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। इस विधानसभा सीट से नवाब काजिम अली खां भी चुनावी मैदान में हैं। अब्दुल्ला को पहले ही चुनाव में काफी कड़ी टक्कर देखने को मिलेगी। काजिम अली खां पिछले चार बार से स्वार से विधायक हैं। वहीं रामपुर सीट से आजम खां की टक्कर का कोई है ही नहीं। वहां से वो हमेशा से ही जीतते हुए आए हैं। जानकारों की मानें तो आने वाले चुनाव में ये जोड़ी सबसे हॉट जोड़ियों में से एक होगी। अब ये तो वक्त ही बताएगा कि आखिर पिता-पुत्र की जोड़ी को सफलता मिलती है या नहीं।

मेरठ में ये पिता पुत्र बिगाड़ सकते हैं समीकरण

वहीं, दूसरी ओर बहुजन समाज पार्टी की ओर से भी पिता पुत्र की जोड़ी सभी के समीकरण बिगाड़ने में जुटी हुई है। मेरठ दक्षिण से हाजी याकूब तो प्रत्याशी हैं ही, इस बार उनके बेटे हाफिज मो. इमरान को भी चुनावी समर में उतारा गया है। इस बार वो भी पहली बार चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं। इमरान का मुकाबला वैसे संगीत सोम और अतुल प्रधान जैसे कद्दावर नेताओं के साथ होगा। लेकिन मुस्लिम और दलितों की संख्या काफी बेहतर होने की वजह से इमरान पूरी टक्कर देते हुए दिखाई देंगे। हो सकता है वो जीत भी जाएं। दूसरी ओर हाजी याकूब कुरैशी अपने गढ़ में चुनाव लड़ रहे हैं। दक्षिण विधानसभा सीट में मुस्लिमों की संख्या काफी है। साथ ही वो वहां पर काफी लोकप्रिय भी हैं। ऐसे में पिता पुत्र इस बार चुनाव लड़कर मौजूदा विधायकों के समीकरण बिगाड़ सकते हैं।

ये कजिन ब्रदर्स चुनाव में ठोकेंगे ताल

गढ़ विधानसभ सीट से विधायक और समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता मदन भैया उर्फ मदन चौहान को कौन नहीं जानता है। इस बार भी वो चुनावी मैदान में हैं। लेकिन इस बार उनके कजिन ब्रदर अशोक चौहान भी चुनावी समर में उतर चुके हैं। भले ही उनका चुनावी टिकट मुलायम सिंह और अखिलेश की लड़ाई में फंसा हुआ हो। मौजूदा समय में समाजवादी पार्टी के आधिकारिक नोएडा विधानसभा के प्र्रत्याशी वो ही हैं। अशोक चौहान भी पहली बार चुनाव लड़ने जा रहे हैं। शहर में उनकी छवि बाकी नेताओं के मुकाबले साफ सुथरी है। मौजूदा विधायक और बाकी नेताओं को टक्कर देने में पूरा दमखम रखता है।

अभी और आएंगे सामने

अभी तो सिर्फ बसपा और सपा प्रत्याशियों के नाम सामने आए हैं। कांग्रेस और भाजपा के प्रत्याशियों के नाम सामने आना अभी बाकी है। वेस्ट यूपी में भाजपा और कांग्रेस के कई नेता अपने अलावा अपने बच्चों और रिश्तेदारों के लिए टिकट की मांग कर रहे हैं। कुछ नेताओं की इच्छा पूरी भी हो सकती है। ये वक्त ही बताएगा कि आखिर कितनी जोड़ियां सामने आएंगी।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned