मौसम विभाग ने जारी की बड़ी चेतावनी, 17 -18 तारीख को इन इलाकों में होगी भारी बारिश और ओलावृष्टि

  • वेस्ट यूपी में तेज बारिश ने बढ़ाई कंपकंपी
  • अगले 72 घंटे में ठंड के और बढ़ने के हैं आसार
  • नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से फिर होगी बारिश

मेरठ. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलावा पूरे दिल्ली और एनसीआर में गुरुवार की सुबह तेज तो कहीं हल्की बूंदाबांदी हुई। इससे तापमान में गिरावट दर्ज होने के साथ ही ठंड का प्रकोप और ज्यादा बढ़ गया है। इसके साथ ही मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि पहाड़ों पर बारिश और बर्फबारी का असर मैदानी क्षेत्रों में दिखाई दे रहा है। दरअसल, पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से 17 और 18 जनवरी को भारी बारिश के साथ-साथ ओलावृष्टि होने की भी संभावना जताई गई है।

यह भी पढ़ें: State Bank of India में आई 8,000 पदों के लिए बंपर वैकेंसी, ऐसे करें Online आवेदन

गुरुवार की सुबह छह बजे मेरठ, गाजियाबाद, नोएडा और आसपास के इलाकों में तेज बारिश हुई। वहीं, कुछ इलाकों में रुक-रुककर बारिश दोपहर तक होती रही। बारिश होने के साथ ही ठंड का प्रकोप भी बढ़ गया है। यहां सुबह के वक्त अधिकतम तापमान 17 और न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। इससे पहले बुधवार को भी मौसम बिगड़ा रहा। सुबह के समय घना कोहरा छाया रहा और दृश्यता पांच से दस मीटर के बीच रही। मौसम वैज्ञानिक डॉ. यूपी शाही का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने के कारण अगले 72 घंटे तक बारिश और ओलावृष्टि के आसार हैं। 17 और 18 जनवरी को मौसम इसी तरह बना रहेगा और तापमान में गिरावट आएगी।

यह भी पढ़ें- 30 रुपए किलो हुआ प्याज, इन वजहों से अभी और गिरेंगे दाम

मौसम विभाग के मुताबिक, मेरठ में 4 से 5 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से नम हवा चल रही है। गुरुवार सुबह के तापमान में पांच डिग्री की गिरावट दर्ज की गई, जबकि रात का तापमान तीन डिग्री बढ़ गया था। मौसम वैज्ञानिक डॉ. एन. सुभाष का कहना है कि शुक्रवार को भी ऐसे ही मौसम रहने का अनुमान है। कहीं-कहीं बारिश के साथ ओले गिर सकते हैं। मेरठ जिले के कई हिस्सों में बारिश के साथ ओलावृष्टि का समाचार है। देहात क्षेत्र में तेज हवा के चलते पेड़ और बिजली के खंभे गिरने की सूचना है। ओलावृष्टि से जहां फसलों को क्षति हुई है, वहीं, बर्फीली हवाएं चलने से मौसम में ठिठुरन बढ़ गई।

यह भी पढ़ें- CAA पर जारी विरोध के बीच स्वामी विवेकानंद का भाषण हुआ वायरल, स्पीच सुनकर आप भी करेंगे तारीफ

कृषि और मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार, ओलावृष्टि से सरसों और चने की फसलों को ज्यादा नुकसान पहुंचा है। मुजफ्फरनगर में बीती देर रात से बारिश के साथ ओलावृष्टि भी हुई है। यहां तेज हवा चलने के कारण क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति भी ठप हो गई। इसके अलावा देहात क्षेत्रों में भी बारिश के साथ ओले पड़े। वहीं बागपत में तेज हवा और बारिश के साथ कई जगहों पर ओलावृष्टि भी हुई। बारिश के साथ ओले पड़ने से कई फसलों को काफी नुकसान हुआ है। मेरठ में बीती बुधवार देर रात से ही मौसम का मिजाज बदल गया। गुरुवार सुबह से घटा छायी और झमाझम बरसात हो रही है।

Show More
Iftekhar
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned