रक्षा बंधन पर बहनाें काे मुफ्त यात्रा कराने वाली यूपी राेडवेज ने एमएसटी धारकों को भी दिया ताेहफा

  • मेरठ डिपो से चलेंगी राखी स्पेशल 160 बसें
  • सहारनपुर रीजन से चलेंगी 133 बसें
  • जितने दिन नहीं चली बसें उतने दिन बढ़ेगी एमएसटी की वैधता

By: shivmani tyagi

Updated: 02 Aug 2020, 01:05 PM IST

मेरठ। रक्षा बंधन ( Raksha Bandhan ) पर महिलाएं राेडवेज की बसों में मुफ्त यात्रा कर सकेंगी। रविवार रात 12 बजे से महिलाओं से यूपी रोडवेज (UP roadways ) की बसों में किराया नहीं लिया जाएगा। इसके साथ ही राेडवेज ने अब पुरुषों के लिए भी बड़ी घाेषणा की है। लॉकडाउन में जितने दिन रोडवेज की बसें नहीं चली उतने दिन एमएसटी की वैधता काे बढ़ाया जाएगा। इसके लिए सरकार ने प्रदेश के सभी रीजनल मैनेजर को आदेश जारी कर दिए हैं।

यह भी पढ़ें: पानी पीने के लिए घर में घुसे मानसिक रूप से कमजोर युवक को चोर समझ पीट-पीटकर मार डाला

रक्षाबंधन के दिन बिना किराए के रोडवेज की बसों से बहनें सफर कर सकेंगी। प्रदेश स्तर से आदेश आने के कारण परिवहन निगम के अधिकारियों ने बसों के परिचालकों से छूट देने का निर्देश दिए हैं। कोरोना संक्रमण के कारण परिवहन निगम की बसों में रक्षाबंधन के दिन महिलाओं को मिलने वाली छूट बरकरार रखी है।

यह भी पढ़ें: यूपी के इस शहर में कोरोना नहीं, बंदरों से खाैफ में घरों में कैद हैं लाेग

शनिवार और रविवार को लॉकडाउन होने के कारण रोडवेज की बसों में कम सवारियां बैठी। दूसरी ओर कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए बसों में 50 प्रतिशत सवारी ही बैठने दी जा रही हैं। इस कारण रोडवेज को घाटा उठाना पड़ रहा है। इसके बावजूद भी रोडवेज ने रक्षाबंधन पर महिलाओं के लिए यह निर्णय लिया है। स्थानीय रोडवेज अफसरों ने रक्षाबंधन पर यात्रियों की भीड़ को देखते हुए अलग-अलग रूटों पर 160 अतिरिक्त बसें चलाने की घोषणा की है। मेरठ परिक्षेत्र के आरएम नीरज सक्सेना ने बताया कि 2 अगस्त की रात यानी रविवार 12 बजे से तीन अगस्त की साेमवार रात 12 बजे तक यह सुविधा होगी। सामान्य बसों के अलावा, वातानुकूलित, जनरथ बस में मुफ्त यात्रा महिलाएं कर सकेंगी।

यह भी पढ़ें: इस गांव में नहीं मनाया जाता रक्षाबंधन का त्यौहार, मोहम्मद गोरी से जुड़ा है किस्सा

रक्षाबंधन पर यात्रियों की भीड़ को देखते हुए मेरठ डिपो से करीब 160 बसों को चलाया जाएगा। इनमें अनुबंधित बसें भी शामिल की गई हैं। अगर भीड़ बढ़ी तो और बसों को चलाया जा सकता है। आरएम नीरज सक्सेना ने कहा कि रक्षाबंधन से छह अगस्त तक एक बस में यात्रियों को सीटों के बराबर ही बैठाया जाएगा। बिना मास्क वाले यात्रियों को बस में बैठने की अनुमति नहीं होगी। बस में बैठने से पहले हाथों को पूरी तरह से सैनेटाइज कराया जाएगा। इसके बाद यात्रा कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: 5 अगस्त: मेरठ में पुलिस फोर्स के साथ पीएसी ने संभाला मोर्चा, 15 सेक्टर और 5 जोन में बंटा जिला

सहारनपुर रीजन में भी 133 राखी स्पेशल बसें रूट पर दाैड़ेंगी। इन सभी बसों में महिलाओं के लिए किराया मुफ्त हाेगा। इसे लिए तैयारियां चल रही हैं। राेडवेज वर्कशॉप में बसों की धुलाई के साथ-साथ उन्हे सैनेटाईज किया जा रहा है।

अगर आप डेली पैसेंजर हैं ताे यह खबर आपके लिए ही है। परिवहन निगम ने एमएसटी की यात्रा वैधता को बढ़ा दिया है। लॉकडाउन में जितने दिन तक रोडवेज बसें बंद रही हैं उतने दिनों की वैधता को अगले महीनों में समायोजित किया जाएगा।

इसका सीधा लाभ उन यात्रियों काे मिलेगा जिन्हाेंने लॉकडाउन के बीच राेडवेज सेवा बंद रहने की वजह से सफर नहीं किया था। क्षेत्रीय प्रबंधक नीरज सक्सेना ने बताया 22 मार्च से लगे लॉकडाउन की बजह से बड़ी संख्या में लोग एमएसटी में बैलेंस होने के बाद भी यात्रा नहीं कर पाए। इसके कारण एमएसटी की शेष वैधता बढ़ा दी गई है। यह ताेहफा राेडवेज ने अपने डेली पैसेंजर काे दिया है। इस फरमान के बाद अब एसएमटी कार्डधारक पूरे समय यात्र कर सकेंगे। इसके लिए उन्हे एमएसटी के साथ आवेदन देना जरूरी होगा।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned