दो बार मेरठ टोल से निकले ओलंपियन सुशील कुमार ने बताया हाइवे किनारे गुजरी फरारी की रातें

एक फ्लैट के लालच ने ओलंपियन सुशील ( Susheel Kumar ) को बना दिया हत्यारोपी, गिरफ्तारी के बाद पुलिस पूछताछ में हुआ खुलासा, पुलिस से बचने के लिए सुशील ने कई रातें सड़कों के किनारे काटी

By: shivmani tyagi

Updated: 23 May 2021, 02:13 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ । दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड में पुलिस को चकमा देने के लिए हत्यारोपी आोलंपियन ( Susheel Kumar ) सुशील कुमार मेरठ के टोल प्जाजा से दो बार निकला। गिरफ्तारी के बाद सुशील कुमार ( susheel kumar Wrestler ) ने पुलिस पूछताछ में यह राज खोला है। यह भी बताया कि गिरफ्तारी से बचने के लिए उसने कई रात गाड़ी में ही सड़क के किनारे बिताई और इस दौरान अपना मोबाइल भी बंद रखा।

यह भी पढ़ें: गरीब कोटे से यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर बने बेसिक शिक्षा मंत्री के भाई, लोग बोले- पावर का खेल

हत्याकांड वाली रात सुशील ( Wrestler susheel kumar ) दिल्ली-हरिद्वार हाईवे पर मेरठ टोल प्लाजा से निकला था। सुशील ने पुलिस को बताया कि वह उसके बाद तीसरे दिन भी इसी हाइवे से निकला लेकिन जब पुलिस का शिकंजा कसा जाने लगा तो उसने हाइवे से निकलना बंद कर दिया और राज्यमार्गों से भागने की फिराक में था। हत्यारोपी पहलवान सुशील कुमार की गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली पुलिस ने लुक आउट नोटिस जारी किया था। उस पर एक लाख का इनाम भी घोषित था। हत्या के मामले में आरोपी पहलवान सुशील कुमार को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही थी।

यह भी पढ़ें: बच्चों ने खोला पिता की हत्या का राज, कहा- मम्मी ने हमारे सामने पापा को पिलाया था जहर

बता दें दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में दो पहलवानों के बीच झड़प में सागर नामक पहलवान की हत्या कर दी गई थी। यह झगड़ा एक फ्लैट को लेकर होना बताया जा रहा है। दरअसल पहलवान सागर जिस फ्लैट में अपने दोस्तों के साथ रहता था, उस फ्लैट को सुशील खाली करवाना चाहता था, जिसके लिए सुशील उस पर दबाव बना रहे था। इसी मसले पर छत्रसाल स्टेडियम में देर रात दोनों गुटों के बीच झड़प हुई थी।

यह भी पढ़ें: CCTV में कैद हुआ सुशील पहलवान, अब दिल्ली पुलिस ने तलाशने के लिए बनाया ये मास्टर प्लान

यह भी पढ़ें: CCTV में कैद हुआ सुशील पहलवान, अब दिल्ली पुलिस ने तलाशने के लिए बनाया ये मास्टर प्लान

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned