मिर्जापुर में गो-तस्करी का खुलासा, पशु बरामद तस्कर गिरफ्तार

गोबध के आरोप में पहले गैंगस्टर के तहत जेल जा चुके आरोपी को भी गिरफ्तार किया

मिर्ज़ापुर. अहरौरा पुलिस ने तस्करी कर बध के लिए ले जाये जा रहे प्रतिबंधित पशुओं के एक बड़े खेप को बरामद कर बडी सफलता हासिल की है। साथ ही इस प्रकरण में पुलिस ने गोबध के आरोप में पहले गैंगस्टर के तहत जेल जा चुके आरोपी को भी गिरफ्तार किया है। हाल के दिनों में गो-तस्करी की बरामदगी की घटनाओं पर नजर दौडाया जाय तो यह अहरौरा पुलिस की अब तक की सबसे बड़ी सफलता मानी जा रही है।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार थानाध्यक्ष अहरौरा प्रवीण कुमार सिंह को सूचना मिली कि सारादह के जंगलों से पगडंडी के रास्ते पशु तस्करो की एक टीम भारी संख्या में गोवंश का खेप तस्करी कर बध के लिए ले जा रही हैं, सूचना पाकर हरकत में आई स्थानीय पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए बताये गये क्षेत्र में घेराबंदी कर एक बहुत ही शातिर पशु तस्कर बुल्लू पाल पुत्र लक्षमन पाल निवासी मालपुर मडिहान को 12 बोर के देशी तमंचा और जिन्दा कारतूस के साथ धर दबोचा। उसके चंगुल से 88 पशु बरामद किया।

 

जिनमें से 39 बैल, 31 गाय,12 बछडा, 6 बछिया इन पशुतस्करो से मुक्त कराया गया। पुलिस की कार्रवाई के दौरान कुछ अन्य पशु तस्कर मौके से भागने में कामयाब हो गए। जिनकी तलास पुलिस कर रही है। पुलिस ने गिरफ्त में आये पशु तस्कर के खिलाफ धारा 3/5अन्य/8,गोबध निवारण अधिनियम, 3/25 शस्त्र अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया।

बतादे की गिरफ्तार किया गया आरोपी चन्दौली जनपद के चकिया थाने में गोबध के आरोप में गैंगस्टर के आरोप के तहत जेल भेजा गया था। अभी पन्द्रह दिन पूर्व ही जेल से रिहा हो कर बाहर आया था। मगर एक बार फिर से पुलिस ने से पशु तस्करी करते हुए पकड़ने में सफलता हासिल की है।

 

आरोपी को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में थानाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह एसआई कविन्द्र यादव,एस आइ सतीश कुमार सिंह, एस आइ तेज बहादुर राय, कॉन्स्टेबल मृदुल राय, रत्नेश यादव रहे।

वाराणसी उत्तर प्रदेश
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned