व्यापारियों ने ई-वे बिल हटाए जाने की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

Sunil Yadav

Publish: Feb, 15 2018 06:30:49 PM (IST)

Mirzapur, Uttar Pradesh, India

मिर्ज़ापुर. उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के नेतृत्व में व्यपारियों ने जीएसटी की दरों और ई-वे बिल को लेकर व्यापार कर कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन किया। इसके साथ ही व्यापारियों की मांग थी कि सचल दस्ते के अधिकारियों द्वारा छापेमारी की कार्रवाई के दौरान मनमानी की भी रोक लगई जए।


विरोध कर रहे व्यापारियों का कहना था कि, जीएसटी की दरों को कम करके 18 प्रतिसत किया जाय। जैसे अन्य देशों में जीएसटी कि दर काफी कम है। साथ ही टैक्स का स्लैब 2 से उपर न रखा जाये साथ ही ईवे बिल को समाप्त किया जाय। उनका कहना था कि जीएसटी पोर्टल कि तकनीकि जानकारी न होने से ईवे बिल को निकालने में समस्या आ रही है।


व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष संजय सिंह का कहना था कि जीएसटी आर 3 का भार व्यापारियों पर जबरन डाला जा रहा है। वहीं व्यापारी नेता व संगठन के प्रवक्ता शैलेन्द्र अग्रहरी का कहना था कि जीएसटी विभाग का सचल दस्ता और एस आई बी विभाग भर्ष्टाचार का अड्डा हो गया है। इनके कार्यो पर सरकार सख्ती से रोक लगाए। और ईवे बिल व्यवस्था को समाप्त कर जीएसटी कि दर को सिर्फ दो या तीन फीसदी रखा जाय। प्रदर्शन के दौरान सभा को सम्बोधित करते हुए व्यापारी नेता आलोक जायसवाल ने व्यापारियों पर लगाए गए अधिकतम टैक्स दर को कम कर इसे सुलभ करने कि मांग की। साथ ही व्यपारियों पर छापेमारी का विरोध करते हुए कहा कि इससे भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिल रहा है।


व्यापारियों ने धरना प्रदर्शन के बाद सयुक्त आयुक्त जीएसटी एसके श्रीवास्तव को विक्त मंत्री भरत सरकार के नाम सम्बोधित छः सूत्रीय मांग पत्र सौंपा। कहा कि अगर हमारी मांगे नहीं मानी जाती तो आगे भी धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। इस दौरान जिला महामंत्री आलोक जायसवाल, व्यापारी नेता संतोष उमर समेत सैकड़ों व्यापारी मौजूद रहे।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned