अंडे की दुकान को भेजा डेढ़ लाख रुपये का बिजली का बिल, दुकानदार के उड़ गए होश

यूपी के मिर्जापुर में मीटर खराब होने के बावजूद बिजली विभाग ने अंडे की छोटी सी दुकान का बिजली का बिल डेढ़ लाख रुपये भेज दिया। बाद में विभाग का चक्कर लगाने के बाद जब जांच हुई तो पता चला कि विभाग की गलती से बिजली का बिल इतना अधिक चला गया।

मिर्ज़ापुर. उत्तर प्रदेश में बिजली विभाग ने एक हैरान कर देने वाला कारनामा किया है। अंडे की दुकान पर ढेड़ लाख रुपये बिजली का बिल भेज दिया, जिसे देखते ही दुकानदार के होश उड़ गए। सबसे बड़ी बात ये कि मीटर भी खराब था, जिसकी शिकायत उपभोक्ता द्वारा बिजली विभाग को काफी पहले दे दी गई थी। बावजूद इसके विभाग ने डेढ़ लाख रुपये का बिजली का बिल भेज दिया। बाद में जब पीड़ित दुकानदार ने बिजली विभाग के एक्सईएन के पास शिकायत की तब जाकर उसकी समस्या का समाधान हुआ और डेढ़ लाख रुपये का बिजली का बिल घटकर 19 हजार रुपये हो गया। बिजली विभाग के अधिकारी अब इसे मीटर रीडर की गड़बड़ी बताकर पल्ला झाड़ रहे हैं।

 

मामला यूपी के मिर्जापुर का है। यहां शहर के जंगी रोड स्थित बसहीं इलाके में भगवानदास अंडे की छोटी सी दुकान चलाते हैं। उन्होंने 2018 में बिजली विभाग से एक कनेक्शन ले रखा था। कनेक्शन लेते समय 12 हजार रुपये जमा भी किये। कुछ दिन बाद ही भगवानदास का मीटर खराब हो गया। उन्होंने इसकी शिकायत बिजली विभाग से की, लेकिन इसपर विभाग ने कोई ध्यान नहीं दिया। इधर एक सप्ताह पहले बिल न जमा करने पर उनका कनेक्शन काट कर जब विभाग ने उन्हें बिल थमाया तो उनके होश उड़ गए। 2018 से मीटर खराब था, बावजूद इसके अंडे की मामूली सी दुकान का बिजली का बिल विभाग ने 1 लाख 49 हजार रुपये भेजा था।

 

अब शुरू हुई भगवानदास की परेशानी। अपना बिजली का बिल ठीक कराने के लिये भगवानदास विभाग के दफ्तर के चक्कर काटने लगे, लेकिन बाबू और कर्मचारी उन्हें केवल चक्कर लगवाते रहे। आखिरकार हारकर उन्होंने फतहां स्थित विभाग के एक्सईएन मनोज यादव से शिकायत कर दी। उन्होंने इसकी जांच करायी तो पता चला कि गलत रीडिंग के चलते इतना अधिक बिल आ गया। बिल को जब ठीक कराय गया तो डेढ़ लाख रुपये घटकर महज 19 हजार रुपये हो गया।

By Suresh Singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned