दम तोड़ता नजर आ रहा है स्वच्छता अभियान, 15 दिनों से शहर में फैला है कूड़े का अंबार

 दम तोड़ता नजर आ रहा है स्वच्छता अभियान, 15 दिनों से शहर में फैला है कूड़े का अंबार
Garbage Spreads

पूरे नगर पालिका में सिर्फ एक गाड़ी है जो कूड़े के बॉक्स को उठाने का करती है काम

मिर्जापुर. जिले के शहरी नगर पालिका क्षेत्र के इलाकों में पिछले पंद्रह दिनों से स्वच्छता अभियान बेपटरी होता दिख रहा है। शहर में जगह-जगह कूड़े का अंबार लगा है। पिछले 15 दिनों से शहर में रखा गया कूड़े के डब्बों से कूड़ा उठाने वाला कोई नही है। हालत यह है कि जिले के आलाधिकारियों के आवास और कार्यालय के पास पंद्रह दिनों से कूड़े का ढ़ेर लगा है।


यह भी पढ़ें:

घंटे भर की मूसलाधार बारिश और काशी ताल तलैया में तब्दील, गोदौलिया पर धंसी सड़क


कमिश्नर आवास और सीडीओ कार्यालय से ले कर डीएम कार्यालय के पास रखे गए कूड़े के डब्बों को उठाने वाले नगरपालिका के कर्मी इन दिनों नदारद दिख रहे है। शहर में कुल 100 से 125 की संख्या में कूड़ेदान भरे पड़े है। कूड़ेदान की वजह से आसपास के इलाकों में गंध से लोग परेशान हैं, जिसकी वजह से लोगों का जीना दूभर हो गया है।





यही हालत मंडल के सबसे बड़े अधिकारी मंडलायुक्त के कार्यालय का है, जहां दीवार से सटे एफसीआई गोदाम में पिछले 6 महीनों से पानी भरा है। इसी भरे पानी मे गाड़ियां लगा कर अनाज की लोडिंग हो रही है। यह भी नगरपालिका इलाके में स्थित है, मगर यहां भी स्वछ्ता अभियान दम तोड़ता नजर आ रहा है।


वहीं इस मामले पर प्रभारी ईओ नगर पालिका विनय तिवारी का कहना है कि कूड़े को उठाने वाली गाड़ी का हाइड्रोलिक फेल हो जाने से पिछले पंद्रह दिनों से कूड़ा उठाने में परेशानी हो रही है। मैकेनिक बाहर से मंगाया गया है जल्द ही गाड़ी को बनवा कर कूड़ा उठाने का कार्य किया जाएगा। बता दें कि फिलहाल शहर नगर पालिका में भाजपा की राजकुमारी खत्री चेयरमैन है, बावजूद इसके शहर का यह हाल है, जहां नगर पालिका क्षेत्र में कूड़ा उठाने के लिए सिर्फ एक ही गाड़ी मौजूद है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned