दीपावली पर तस्कर बेचने के लिए ले जा रहे थे कछुआ, जीआरपी रेलवे ने किया गिरफ्तार

तस्कर 30 रूपये में कछुआ खरीद कर सिलीगुड़ी में बीस गुने ज्यादा दाम पर बेचने के लिए ले जा रहे थे।

By: Neeraj Patel

Published: 12 Nov 2020, 04:46 PM IST

मिर्ज़ापुर. जीआरपी पुलिस ने दीपावली पर बेचने के लिए ले जाये जा रहे कछुओं की भारी खेप पकड़ कर तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार। यह गिरोह दीपावली पर ऊंचे दाम में कछुओं को बेचने के लिए सिलीगुड़ी लेकर जा रहा था। इनके पास से सात पिठ्ठू बैग से जिंदा 208 कछुआ बरामद किया गया।

मिर्ज़ापुर रेलवे प्लेटफार्म से जीआरपी ने चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में तस्करी कर पश्चिम बंगाल के सिलिगुड़ी ले जाये जा रहे कछुआ बरामद किया। जीआरपी के मुताबिक दीपावली के पर्व को देखते हुए जीआरपी ने चेकिंग के दौरान प्लेटफार्म नंबर दो और तीन पर बैठे कुछ लोगों से जब पूछताछ किया तो इनके पास से 7 बैग मिला।जिसमें तलाशी के दौरान 208 जिंदा कछुआ बरामद हुआ।

पकड़े गए सभी तीनों आरोपी मिर्ज़ापुर के देहात कोतवाली थाना क्षेत्र के रहें वाले है। पूछताछ में इन लोगो ने स्वीकार किया कि यहां से सस्ते दाम 30 रूपये में कछुआ खरीद कर सिलीगुड़ी में बीस गुने ज्यादा दाम पर बेचने के लिए ले जा रहे थे। वहां पर दीपावली के पर्व पर कछुआ का दाम 500 रूपया तक चला जाता है।

जीआरपी प्रभारी उदय शंकर कुशवाहा ने बताया कि तस्करी में शामिल अभी आरोपी एक ही इलाक़े के रहने है। इस मे गिरफ्तार किए गए तीन आरोपियों में पति और पत्नी भी शामिल है। उनका कहना था।कि प्लेटफार्म में चेकिंग के बाद पकड़े गए लोगो से तलासी में 208 कछुआ मिला है।यह लोग यहां से 30 रुपये से लेकर 50 रुपये में कछुआ खरीदते थे। सिलगुड़ी में ऊंचे दाम पर 500 सौ रूपये तक बेचते थे। सभी एक ही इलाके के रहने वाले है।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned