आज मिर्जापुर आयेंगे सीएम योगी, अधिकारियों के छूट रहे पसीने

जिले के पुतलीघर में आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में बतौर मुख्य़ अतिथि हिस्सा लेने यूपी के सीएम

By: Ashish Shukla

Published: 24 Apr 2018, 07:23 AM IST

मिर्जापुर. जिले के पुतलीघर में आयोजित सामूहिक विवाह कार्यक्रम में बतौर मुख्य़ अतिथि हिस्सा लेने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ आज मिर्जापुर पहुंच रहे हैं। सीएम योगी मिर्जापुर में हेलीकाप्टर से पुतलीघर में बनाये गये हेलीपैड पर दोपहर 2:00 लैंड करेेंगे। 02.10 बजे सीएम सामूहिक विवाह स्थल पर पहुंचेंगे। मुख्यमंत्री 40 मिनट तक इस कार्यक्रम में रहेंगे। मुख्यमंत्री 03.05 मिनट पर यहां से रवाना होगें।

इस कार्यक्रम को लेकर अधिकारियों ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। पिछले कई दिनों से सीएम के आने की चर्चा के बीच अधिकारी लगे थे कि इस आयोजन में किसी तरह की कमी न रह जाये। लेकिन सोमवार को प्रतापगढ़ दौरे पर सीएम योगी की सख्ती और अधिकारियों पर गिरी गाज के बाद उनके तेवर देख यहां भी प्रशासन के पसीने छूट रहे हैं। क्यूंकि सीएम ने जनता से सीधा संवाद कतके अधिकारियों पर जिस तरह से नकेल कसनी शुरू की है। उसका असर यहां भी देखा जा रहा है।

आज सामूहिक विवाह कार्यक्रम में विध्याचल मंडल के तीनों जिले शामिल हैं। इसमें मिर्ज़ापुर से 180 सोनभद्र से 279 और भदोही से 52 जोड़ों की शादी करायी जाएगी। कार्यक्रम में कुल 511जोड़ो का सामूहिक विवाह करवाया जा रहा है, जिसमें तीन मुस्लिम जोड़े भी शामिल हैं।

प्रतापगढ़ में सीएम के तेवर देख उड़े हैं अधिकारियों के होश

सोमवार मे प्रतापगढ़ जिले में सीएम योगी के तेवर देख मिर्जापुर में अधिकारियों के होश उड़े हैं कि कही सीएम के सामने कुछ कमी न रह जाये। देर रात तक अधिकारियों की गाड़ियां कार्यक्रम स्थल पर दौड़ती नजर आईं । साथ ही कार्यालयों में भी सरकार के कामकाज को लेकर सारी दस्तावेज और आंकड़े स्पष्ट करने में पूरा अमला लगा रहा। एक अधिकारी ने बताया कि हालांकि कि यहां किसी तरह के विशेष समीक्षा या गांवों का दौरा नहीं किया जाना है। लेकिन सीएम कब किस बात का जिक्र कर दें। इसे लेकर सभी तरह से हमने तैयारी कर लिया है।

प्रतापगढ़ में तमतमा गये थे सीएम

बतादें कि सोमवार को प्रतापगढ़ में सीएम विकास भवन में समीक्षा बैठक करने के बाद पट्टी के कंधई मधूपुर गांव में चौपाल में पहुंचे तो जनता ने अधिकारियों कर्मचारियों के कामकाज को लेकर गंभीर सवाल उठाये थे। जिसके बाद सीएम ने अफसरों से साफ कहा था कि किसी तरह की आंकड़ेबाजी नहीं चलेगी। सुधर जाओ नहीं तो नाप दिये जाओगे। वहीं चर्चित जलनिगम घोटाले मामले में भी सीएम ने संलिप्त अफसरों को निलंबित करने का निर्देश दिया था।

Show More
Ashish Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned