पत्नी बोली, सुबह मेरे पति को ले गए शाम को उसकी लाश लाकर दे गए

मिर्जापुर में साथियों के साथ पिकनिक मनाने गए युवक की मौत के बाद हंगामा, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप, शव को सड़क पर रखकर लगाया जाम, किया हंगामा। पुलिस ने किसी तरह से लोगों को मनाकर जाम समाप्त कराया। फिलहाल पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

मिर्ज़ापुर. यूपी के मिर्जापुर में साथियों के साथ पिकनिक मनाने गए युवक की मौत के बाद उसके परिजनों ने हत्या का आरोप लगाते हुए शव केा सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। इस दौरान खूब हंगामा हुआ। परिजन हत्या का मुकदमा दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे। मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी ने किसी तरह से परिजनों को समझा-बुझाकर जाम समाप्त कराया। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ जाने के बाद उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

 

छह सितंबर 2020 रविवार को मृतक मनोज कुमार यादव अपने साथियो के साथ पिकनिक मनाने के लिए चुनार थाना क्षेत्र के पिकनिक स्पॉट सिद्धिनाथ दरी पहुंचे। वहां मनोज की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गयी। परिजनों का कहना है कि साथ गये लोगों ने हादसा होने की बात कही और शव लाकर घर पर दे गए। उन्हें शक है कि मनोज की मौत हादसे में नहीं हुई, बल्कि उनकी हत्या की गई है।

 

नाराज परिजनों ओर ग्रामीणों ने शव को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। वो इस मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग कर रहे थे। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे उपजिलाधिकारी चुनार और पुलिस कर्मियों ने घरवालों को मांग के मुताबिक कार्रवाई का आश्वासन दे कर मनाया। मृतक की पत्नी ज्योत्सना यादव ने कहा की 'यह लोग मेरे पति को सुबह ले गए शाम को उसका शव लाकर दे गए'। पत्नी का कहना था कि हमें क्या पता कि वहां पर असल में क्या हुआ। आरोप लगाया कि उनके पति की हत्या की गई है। वहीं मौके पर पहुंचे उपजिलाधिकारी चुनार सुरेंद्र बहादुर सिंह का कहना है कि मृतक 'सिद्धनाथ की दरी' पर साथियों के साथ पिकनिक मनाने गये थे। उनकी मौत हो गयी, घर वाले जो भी मांग कर रहे हैं, उनसे पत्रक ले लिया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद उसी के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी।

 

उधर घटना को लेकर क्षेत्र में चर्चा है पिकनिक मनाने के दौरान सेल्फी लेते समय मृतक का पैर फिसला और वह खाई में गिर गए। मौके पर मौजूद साथियों द्वारा उसे निकाल कर ट्रामा सेंटर वाराणसी ले जाया गया, मगर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। रात में ही शव को परिजनों तक पहुचाया गया। मौत की खबर लगते ही परिजनों में कोहराम मच गया। मगर मौत को संदिग्ध मान कर परिजनों ने रात में ही विरोध करते हुए धरने पर बैठ गए।

By Suresh Singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned