दुल्हन के टैंकर के पीछे कपड़ा बदलने प्रकरण पर जिलाधिकारी की सफाई, कहा पंडाल में मौजूद थी सारी व्यवस्था

चार-पांच दुल्हन इधर-उधर चली गयी होगी तो कह नहीं सकता, पत्रिका ने सबसे पहले व्यवस्था पर उठाये थे सवाल

By: Devesh Singh

Published: 25 Apr 2018, 03:27 PM IST

Mirzapur, Uttar Pradesh, India

रिपोर्ट-सुरेश सिंह

मिर्जापुर. जिले के पुतली घर में आयोजित सामूहिक विवाह के दौरान टैंकर के पीछे दुल्हन के कपड़े बदलने प्रकरण पर जिलाधिकारी ने अपनी सफाई दी है। पत्रिका से बातचीत ें जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने कहा कि पंडाल में दुल्हन के बदलने के लिए कक्ष की व्यवस्था की गयी थी साथ ही ब्यूटीशियन को भी तैनात किया गया था इसके बाद भी दो-तीन दुल्हन इधर-उधर चली गयी होगी तो कह नहीं सकता हूं।
यह भी पढ़े:-ऐसा क्या हुआ कि दुल्हन को टैंकर के पीछे बदलना पड़ा कपड़ा, कारण जानकर रह जायेंगे दंग



जिलाधिकारी ने कहा कि कुछ दुल्हन तो रात्रि विश्राम स्थल लाइंस स्कूल से तैयार हो गयी आयी थी। जबकि कुछ कार्यक्रम स्थल पर तैयार हुई थी। पंडाल के अंदर दुल्हन को तैयार करने की सारी व्यवस्था की गयी थी। बकायदे ब्यूटिशन की ड्यूटी लगायी गयी थी जिन्होंने दुल्हन को तैयार किया था। जिलाधिकरी ने कहा कि खुद ही सुबह 9 बजे पंडाल का निरीक्षण किया था उस समय सारी व्यवस्था ठीक मिली थी। कही से किसी तरह की कमी मिलने की बात सामने नहीं आयी थी। उन्होंने आशंका जताते हुए कहा कि मैदान में पीने का पानी के लिए टैंकर लगा हुआ था हो सकता है कोई पानी पीने चला गया होगा। जिलाधिकारी ने स्वीकार किया कि छिटपुट दुल्हन तैयार होने के लिए बाहर रह गयी होगी तो कह नहीं सकता हूं।
यह भी पढ़े:-बीजेपी विधायक का विवादित बयान, ममता बनर्जी को सुपर्णखा व राहुल गांधी को रावण बताया

कौन देगा इन सवालों का जबाव
श्रम विभाग ने ही सामूहिक शादी का आयोजन किया गया था शादी करने वालों की सूची बनी होगी और विवाह के दिन सबकी उपस्थिति भी जांची गयी होगी। वहां पर बाहर से दुल्हन के आने पर तैयार होने, ब्यूटीशन आदि की जानकारी देने की जिम्मेदारी भी जिला प्रशासन की थी। इसके बाद भी दुल्हन को टैंकर के पीछे तैयार होने क्यों जाना पड़ा। पत्रिका के पास बकायदे वीडियो हैं जिसमे साफ देख जा सकता है कि किस तरह टैंकर के पीछे दुल्हन को तैयार करने के लिए महिलाओं को कपड़े से ओट करनी पड़ रही थी। खास बात है कि जिस कार्यक्रम में खुद सीएम योगी आदित्यनाथ ने भाग लिया था वहां पर दुल्हन तैयार करने को लेकर इतनी अव्यवस्था हो सकती है तो अन्य सरकारी कार्यक्रम का क्या हाल होता होगा यह कहना कठिन नहीं होगा।
यह भी पढ़े:-सीएम योगी सरकार की सारी सख्ती बेकार, वीडियो में देखें कैसे बाहर बेचा जा रहा है गरीबों का राशन

सामूहिक शादी में कैसे पहुंच गयी थी नाबालिग लड़कियां
दुल्हन के टैंकर के पीछे कपड़ा बदलने के लिए अतिरिक्त एक अन्य घटना ने व्यवस्था पर बड़ा सवाल खड़ा किया है। जिला प्रशासन ने सामूहिक शादी करायी थी और इस शादी में कुछ नाबालिग लड़कियों को दुल्हन बनाये जाने की तैयारी थी। कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या व अधिकारियों को जब इस बात की जानकारी मिली तो उन्होंने तुरंत ही नाबालिग लड़कियों को वहां से हटाया। इससे साफ हो जाता है कि लड़कियों की आयु को लेकर मानक का ध्यान नहीं दिया गया था और सिर्फ जोड़ों की संख्या ५०१ करने के लिए विभागीय लोगों ने नाबालिग को भी दुल्हन बनाने की तैयारी की थी।
यह भी पढ़े:-सीएम योगी सरकारी योजनाओं का कर रहे थे गुणगान, जनता नोट लहरा के कह रही थी बिना पैसों के नहीं होता काम , देखें वीडियो

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned