पुलिस का कारनामा, मौके से पकड़े गये चोर को बिना कार्रवाई के ही छोड़ा

जिगना थाने का मामला, चोर का वीडियो वायरल होने के बाद एसपी ने दिया जांच का आदेश

मिर्जापुर. यूपी पुलिस हमेशा ही अलग-अलग कारनामों के लिए बदनाम रही है। समय-समय पर पुलिस की इसी छवि को बदलने के लिए प्रयास भी किये जाते रहे हैं। मगर यह प्रयास कामयाब होता हुआ नहीं दिख रहा है। यूपी पुलिस के कारनामों में नया मामला मिर्जापुर जिला के जिगना थाना का है, जहां, पर 14 जून को रात करीब ढाई बजे पूर्व ग्राम प्रधान भिलगौर शंभू सिंह के यहां सोते समय चोर घुस आया। घर में घुसे चोर की आहट पा कर घर वाले जागे और घर के अंदर से चोर को पकड़ लिया। इसके बाद घर वालों ने डायल 100 को फोन कर घटना की सूचना दिया। मौके पर पहुंची डायल 100 ने चोर को पकड़ कर जिगना थाने लाई और थाने को सौप दिया। 





घटना के दूसरे दिन शंभू सिंह के बड़े लड़के पुष्पराज सिंह ने जिगना थाने पहुंच कर चोर के खिलाफ तहरीर दिया। उस दौरान चोर थाने के अंदर बैठा था। पुलिस वालों ने तहरीर लेकर शाम को आने को बोला। मगर जब पीड़ित पुष्पराज थाने पर दूसरे दिन पहुंचे तो वह यह सुन कर आवक रह गए कि उनके घर से पकड़े गए चोर को पुलिस ने छोड़ दिया है। घटना के सोशल मीडिया में तूल पकड़ने के बाद पुलिस का चेहरा खुल कर बेनकाब हो गया।  





इस मामले में जब पत्रिका संवाददाता ने स्थानीय थाना प्रभारी यूपी सिंह यादव से पूछा तो पहले तो वह पूरे मामले में टाल मटोल करते रहे मगर बाद में सफाई देते हुए बताया कि मुजरिम नाबालिग है। मगर वीडियो देख कर कही से नहीं लगा कि पकड़ा गया चोर नाबालिग है। फिलहाल पुलिस की पोल खुल चुकी है, बिना कार्रवाई पुलिस ने पकड़े गए चोर को छोड़ दिया। 




अब घटना के तूल पकड़ने के बाद एसपी आशीष तिवारी ने पूरे मामले की जांच अपर पुलिस अधीक्षक नक्सल को दिया है। एसपी ने उनसे पूरे मामले पर जांच कर जल्द रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है। चोर को बिना कार्रवाई किये छोड़ना अब जिगना पुलिस पर भारी पड़ रहा है।


देखें वीडियो-


Show More
वाराणसी उत्तर प्रदेश
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned